क्वारंटाइन सेंटर पर तैनात प्रधानाध्यापक की मौत, ब्रेन हेमरेज की जताई जा रही है आशंका

हालांकि, तब तक प्रधानाध्यापक राम प्रबोध झा के प्राण निकल चुके थे. घटना की जानकारी मिलते ही कमतौल थानाध्यक्ष सरवर आलम भी मौके पर पहुंच गए. 

क्वारंटाइन सेंटर पर तैनात प्रधानाध्यापक की मौत, ब्रेन हेमरेज की जताई जा रही है आशंका
क्वारंटाइन सेंटर पर तैनात प्रधानाध्यापक की मौत, ब्रेन हेमरेज की जताई जा रही है आशंका. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

दरभंगा: बिहार के दरभंगा जिले के जाले प्रखण्ड अंतर्गत बालक मध्य विद्यालय, कमतौल के प्रधानाध्यापक राम प्रबोध झा की मौत विद्यालय स्थित क्वारंटाइन सेंटर पर ड्यूटी के दौरान हो गई. इसके बाद क्वारंटाइन सेंटर पर काफी हंगामे जैसा माहौल हो गया.

जानकारी के अनुसार वे बिल्कुल स्वस्थ नजर आ रहे थे, इसी बीच अचानक उनकी तबीयत बिगड़ी. सूचना पाते ही जाले बीडीओ राजेश कुमार, जाले प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी डॉ गंगेश झा, बीईओ देवेन्द्र प्रसाद ठाकुर एम्बुलेंस के साथ मौके पर पहुंचे. 

हालांकि, तब तक प्रधानाध्यापक राम प्रबोध झा के प्राण निकल चुके थे. घटना की जानकारी मिलते ही कमतौल थानाध्यक्ष सरवर आलम भी मौके पर पहुंच गए. 

वहां मौजूद लोगों की मानें तो प्रधानाध्यापक की मौत की वजह ब्रेन हेमरेज बताई जा रही है. कमतौल थानाध्यक्ष ने शव को अंत परीक्षण के लिये दरभंगा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल भेज दिया है.