Ramgarh: Strawberry की खेती से 'आत्मनिर्भर' बन रहे किसान, Hemant सरकार के सहयोग का मिल रहा लाभ

Ramgarh News: किसान वासुदेव का कहना हैं कि उन्होंने इस नई प्रकार की खेती सरकार के सहयोग के कारण ही शुरु की है. उन्होंने बताया कि वह अगले वर्ष 50 डिसमिल में स्ट्रॉबेरी की खेती करेंगे क्योंकि इसमें अच्छा लाभ हैं.  

 Ramgarh: Strawberry की खेती से 'आत्मनिर्भर' बन रहे किसान, Hemant सरकार के सहयोग का मिल रहा लाभ
स्ट्रॉबेरी की खेती से 'आत्मनिर्भर' बन रहे किसान. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

झूलन अग्रवाल/रामगढ़: झारखंड के रामगढ़ जिले के गोला प्रखंड के किसानों ने आत्मनिर्भरता (Atamnirbhar) की एक अनूठी मिसाल पेश की है. गोला प्रखंड में इन दिनों स्ट्रॉबेरी (Strawberry) की खेती हो रही हैं. जिले के किसान स्टाबैरी की खेती कर आत्मनिर्भर बन रहे है और अन्य किसानों के लिये प्रेरणा स्रोत भी बन रहे है. रामगढ़ ज़िले के गोला प्रखंड कृषि प्रधान प्रखंड हैं. यहां के अधिकांश लोगों का मुख्य पेशा हैं कृषि हैं. गोला प्रखंड के 70 प्रतिशत लोग कृषि पर निर्भर हैं और कृषि कार्य करके ही अपना जीवनयापन करते हैं.

गोला प्रखंड के कुसटेगढा में किसान वासुदेव कुमार अपने क़ई डिसमिल भूमि में स्ट्रॉबेरी की खेती कर आत्मनिर्भरता की राह पर अग्रसर हो रहे हैं. किसान वाशुदेव महतो को देखकर उनके गांव के ही दूसरे किसान भी इनसे प्रेरणा ले रहे हैं. गोला में पहली बार स्ट्रॉबेरी की खेती होने से लोगों में खुशी की लहर है और कई लोग यह देखकर अचंभित हो गए है.  

स्ट्रोबेरी की खेती कर रहे किसान वासुदेव का कहना हैं कि उन्होंने इस नई प्रकार की खेती सरकार के सहयोग के कारण ही शुरु की है. उन्होंने बताया कि वह अगले वर्ष 50 डिसमिल में स्ट्रॉबेरी की खेती करेंगे क्योंकि इसमें अच्छा लाभ हैं. वर्तमान समय में 400 रुपए किलो स्ट्रॉबेरी बिक रहा है, जिससे काफी मुनाफा होता है. वहीं, स्थानीय छात्रसंघ का कहना हैं कि स्ट्रॉबेरी के बारे में केवल बुक में ही पढ़े थे पर आज पहली बार इसकी खेती देख बहुत अच्छा लग रहा है.

गोला के किसान प्रतिनिधि उत्तम कुशवाहा ने बताया कि भारत सरकार के कौशल्या फाउंडेशन एवं रामगढ़ जिला कृषि विज्ञान के द्वारा अनुदान पर स्ट्रॉबेरी का पौधा किसानों को उपलब्ध कराया हैं, जिससे किसानों (Farmers) को लाभ हो रहा है.  समाजसेवी रूपेश महथा ने झारखंड सरकार को धन्यवाद देते हुए कहा कि किसानों को सरकार काफी मदद कर रही हैं और आगे भी सरकार ऐसे ही किसानों की मदद करती रहे ताकि वो आगे बढ़ सकें.

बता दें कि स्ट्रॉबेरी में कई प्रमुख विटामिन मौजूद होते हैं. इससे स्वास्थ्य से जुड़े कई फायदे हैं. इसमें मौजूद विटामिन सी और एंटी-ऑक्सीडेंट बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने में मददगार होता है. इसमें मौजूद लाइकोपीन त्वचा की झुर्रियों और बारीक रेखाओं को भी कम करता है. इसमें पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन (Protein) हैं जो काफी लाभकारी है.