तेजप्रताप और उनके बाउंसरों ने की पटना यूनिवर्सिटी के छात्रों से मारपीट, मामला दर्ज

आरजेडी नेता तेजप्रताप यादव और उनके बाउंसरों पर एफआईआर दर्ज किया गया है.

तेजप्रताप और उनके बाउंसरों ने की पटना यूनिवर्सिटी के छात्रों से मारपीट, मामला दर्ज
तेजप्रताप यादव अपने बाउंसरों को लेकर सुर्खियों में हैं. (फाइल फोटो)

पटनाः आरजेडी विधायक तेजप्रताप यादव आजकल अपने बाउंसरों के लिए सुर्खियों में है. जहां बिहार विधानसभा में बाउंसर को लेकर पहुंचने के बाद तेजप्रताप को काफी फजीहत झेलनी पड़ी थी. वहीं, एक बार फिर बाउंसर को लेकर सुर्खियों में हैं. तेजप्रताप यादव और उनके बाउंसरों पर कुछ स्टूडेंट्स के साथ मारपीट का आरोप है, जिसे लेकर थाने में मामला दर्ज करा दिया गया है. वहीं, तेजप्रताप यादव की ओर से भी स्टूडेंट्स की ओर से घर में घुसकर हंगामा करने के आरोप के तहत पटना के सचिवालय थाना में मामला दर्ज कराया गया है. 

बाउंसरों को विधानसभा में बिना अनुमति के घुसाने का मामला अभी ठंढा भी नहीं पड़ा था कि लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप एक अन्य मामले में फंसते नजर आ रहे हैं. तेजप्रताप के उपर कुछ स्टूडेन्टस के साथ मारपीट करने को लेकर पटना के सचिवालय थाना में मामला दर्ज कराया गया है. 

दरअसर, तेजप्रताप ने पटना विश्वविध्यालय छात्र संघ के काउंसिल मेंबर मनोरंजन कुमार को अपने समर्थकों के साथ छात्र आरजेडी ज्वाईन करने अपने स्ट्रैंड रोड स्थित आवास बुलाया था. मनोरंजन कुमार 30 छात्रों के साथ तेजप्रताप के आवास पहुंचे थे. मनोरंजन पहले छात्र आरजेडी के ही सदस्य थे. लेकिन छात्र संघ चुनाव में काउंसिल मेंमबर के रुप में उन्होंने निर्दलीय जीत हासिल की थी. 

मनोरंजन का आरोप है कि तेजप्रताप उन्हें दुबारा छात्र आरजेडी ज्वाईन कराना चाहते थे. इसी के लिए अपने समर्थकों के साथ तेजप्रताप उन्हें छात्र आरजेडी ज्वाईन करने शुक्रवार को बुलाये थे. मनोरंजन अपने समर्थकों के साथ तेजप्रताप के बंगले पर पहुंचे थे. लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें बंगले में घुसने नहीं. बाद में छात्र नारेबाजी करने लगे जिससे नाराज होकर तेजप्रताप के सुरक्षाकर्मियों ने मनोरंजन समेत चार स्टूडेंट्स को घर में बुला लिया और जमकर पिटाई कर दी. 

मारपीट के बाद तेजप्रताप ने घटना की सूचना सचिवालय थाने को दे दी. पुलिस ने चारो स्टूडेंट्स को हिरासत में ले लिया. बाद में तेजप्रताप यादव के निजी सचिव की ओर से थाने में चारों स्टूडेंट्स के खिलाफ जबरन घर में घुसकर हंगामा करने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज करा दिया गया. वहीं स्टूडेंट्स की ओर से भी तेजप्रताप और उनके सहयोगियों के खिलाफ शिकायत दर्ज करा दी गयी. पुलिस मामले पर कुछ भी बोलने से बचते रही. वहीं तेजप्रताप की ओर से भी मामले पर कोई सफाई या बयान नहीं आया है. पुलिस ने दोनों ओर से दर्ज कराये गये मामले की जांच शुरु कर दी है.