close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री को भी मिलना चाहिए शपथ ग्रहण में निमंत्रण - पप्पू यादव

जनाधिकार पार्टी के संरक्षक पप्पू यादव ने मीडिया से बात करते हुए लालू परिवार का बचाव किया है. नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में बिहार से पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को ना बुलाए जाने पर पप्पू यादव ने कहा है कि नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण में देश के अन्य क्षत्रिय पार्टीयों के नेताओं को निमंत्रण मिला है. 

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री को भी मिलना चाहिए शपथ ग्रहण में निमंत्रण - पप्पू यादव
पप्पू यादव ने आरजेडी का समर्थन किया है.

पटना: जनाधिकार पार्टी के संरक्षक पप्पू यादव ने मीडिया से बात करते हुए लालू परिवार का बचाव किया है. नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में बिहार से पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को ना बुलाए जाने पर पप्पू यादव ने कहा है कि नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण में देश के अन्य क्षत्रिय पार्टियों के नेताओं को निमंत्रण मिला है. 

ऐसे में बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व उप मुख्यमंत्री को भी निमंत्रण मिलना चाहिए. आपको बता दें कि पिछले कुछ दिनों से पप्पू यादव का आरजेडी को लेकर सुर बदला है. पिछले दिनों पप्पू यादव राहुल गांधी के समर्थन में भी खुलकर आए थे. पप्पू यादव ने कहा था कि राहुल गांधी के इस्तीफे पर चल रही चर्चा कांग्रेस के लिए आत्मघाती साबित होगी. पप्पू ने कहा कि राहुल गांधी उस परिवार से आते हैं जिसने देश के लिए त्याग किया है.

 

माना जा रहा है कि पप्पू यादव की बदली भाषा कई राजनीतिक संकेत भी दे रही है. वहीं, दूसरी तरफ आरजेडी की मंथन बैठक पर पप्पू यादव ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि लालू के बिना आरजेडी एक तो बिखर चुका और दूसरा ना आरजेडी में अपनापन है. 

साथ ही पप्पू यादव ने ये भी कहा है कि आरजेडी अब जनाधार वाली पार्टी नहीं बची है इसलिए चाहे जितना भी मंथन हो लेकिन परिणाम लालू के बिना नहीं आएंगे. आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में पप्पू यादव की करारी हार हुई है. पप्पू यादव के साथ उनकी पत्नी रंजीता रंजन भी अपनी सीट नहीं बचा सकीं. ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि आगे पप्पू यादव क्या फैसला लेते हैं.