पुलवामा हमले पर जीतनराम मांझी का बयान, कहा- 'पीएम को लाना चाहिए 420 आतंकियों का सिर'

 जीतनराम मांझी ने कहा सीआरपीएफ के शहीद जवानों के बदले अब प्रधानमंत्री को 420 आंतकवादियों के सिर लाने चाहिए.

पुलवामा हमले पर जीतनराम मांझी का बयान, कहा- 'पीएम को लाना चाहिए 420 आतंकियों का सिर'
जीतनराम मांझी ने पुलवामा हमले को लेकर पीएम पर निशाना साधा है. (फाइल फोटो)

पटनाः बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों पर हुए आतंकवादी हमले की निंदा की है. हालांकि मांझी ने इस घटना के बाद भी राजनीति से परहेज नहीं रखा. और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि 'जुमलेबाजी से देश नहीं चलता.' 

वहीं, जीतनराम मांझी ने कहा कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के शहीद जवानों के बदले अब प्रधानमंत्री को 420 आंतकवादियों के सिर लाने चाहिए.

आतंकवादी हमले पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा, "इस घटना के बाद पूरे देश में गुस्सा है. मोदी ने एक सैनिक के सिर के बदले 10 आतंकवादियों के सिर लाने की बात कही थी. उन्हें अब ऐसा करके दिखाना चाहिए, तभी यहां के लोगों का गुस्सा शांत होगा. केंद्र सरकार देश में आतंकवादी गतिविधियों पर अंकुश लगाने में विफल रही है."

पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी पुलवामा आतंकी हमले को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा. 

तेजस्वी ने बिहार के कटिहार में जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवादी घटना पर दुख जताते हुए कहा कि इसका मुंहतोड़ जवाब देना चाहिए.

तेजस्वी ने पत्रकारों से कहा, "चुनाव के पूर्व नरेंद्र मोदी 56 इंच का सीना लेकर घूमते हैं. चुनाव के बाद बिरयानी खाने पाकिस्तान चले जाते हैं. देश में लगातार आतंकवादी घटना को देखते हुए कड़ा कदम उठाकर ऐसा जवाब देना चाहिए कि दुबारा इस तरह की घटना ना हो."

उन्होंने कहा कि खुफिया रिपोर्ट के अलर्ट के बाद भी ऐसी घटना लापरवाही का प्रतीक है. 

तेजस्वी ने कहा कि केंद्र सरकार आतंकवादी घटना को रोकने में असफल साबित हुई है. उन्होंने कहा कि चीन भी देश के भीतर घुसकर आंख दिखाता है.