झारखंड के इस हॉस्पिटल में होता है पशु-पक्षियों का इलाज, डायलिसिस तक की सुविधा

झारखंड के इस हॉस्पिटल में होता है पशु-पक्षियों का इलाज, डायलिसिस तक की सुविधा

कांके स्थित एडवांस डायग्नोसिस पशु चिकित्सा महाविद्यालय में जानवरों का बेहतर इलाज किया जाता है.

झारखंड के इस हॉस्पिटल में होता है पशु-पक्षियों का इलाज, डायलिसिस तक की सुविधा

कामरान, रांची : झारखंड की राजधानी रांची के कांके में एक ऐसा अस्पताल है, जहां बेजुबान पशुओं का इलाज किया जाता है. राज्य के एकमात्र जानवरों के इस अस्पताल में चूहे से लेकर हाथी तक के इलाज की बेहतर सुविधा उपलब्ध है. अस्पताल में आईसीयू और वार्ड की सुविधा भी उपलब्ध है. अस्पताल में अत्याधुनिक उपकरणों के जरिए जानवरों का इलाज किया जाता है. यहां किडनी ट्रांसप्लांट से लेकर डायलिसिस की भी सुविधा है.

कांके स्थित एडवांस डायग्नोसिस पशु चिकित्सा महाविद्यालय में जानवरों का बेहतर इलाज किया जाता है. यही नहीं, यहां घायल जानवरों को ओपीडी और आईसीयू जैसी सुविधा भी दी जाती है. इस अस्पताल में डायग्नोसिस कर जानवरों की बीमारियों का पता लगाया जाता है, जिसके बाद इनके इलाज की शुरुआत की जाती है. यहां जानवरों के इलाज के लिए हर मुमकिन सुविधा उपलब्ध है.

अस्पताल में पशु और पक्षियों का सफलतापूर्वक इलाज किया जा रहा है. इस अस्पताल की खासियत यह है कि जानवरों के साथ-साथ यहां आने वाले लोगों के रहने के लिए भी उत्तम व्यवस्था की गई है. नक्सल प्रभावित इलाकों में सीआरपीएफ, सीआईएसएफ और पुलिस ट्रैकिंग में जो डॉग काम करते हैं वह कई बार विस्फोटक पदार्थों के कारण बीमार हो जाते हैं. उनके इलाज के लिए भी इस अस्पताल में बेहतर सुविधा उपलब्ध है. अस्पताल में मौजूद डॉक्टर बताती हैं कि इलाज के लिए कई तरह के उपाय किए जा रहे हैं.

डॉक्टर का कहना है कि जानवरों की किडनी में अगर खराबी आ जाए तो उनके डायलिसिस की भी व्यवस्था यहां मौजूद है. वहीं, किसी पशु को अगर डिलीवरी में कोई परेशानी आती है तो सिजेरियन के जरिए उनकी डिलीवरी कराई जाती है. इस अस्पताल में कुत्ते, गाय, इमो, खरगोश, मोर सहित कई पशु-पक्षी इलाजरत हैं.

Trending news