close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड के गढ़वा में बड़ा सड़क हादसा, अन्नराज घाटी में बस गिरने से 6 यात्रियों की मौत, 39 घायल

यात्रियों को शीशा तोड़कर क्रेन की मदद से बाहर निकाला जा रहा है. पुलिस ने करीब आधे लोगों को बस से बाहर निकाल लिया है, जबकि आधे यात्री अभी भी बस में फंसे हुए हैं.

झारखंड के गढ़वा में बड़ा सड़क हादसा, अन्नराज घाटी में बस गिरने से 6 यात्रियों की मौत, 39 घायल
गढ़वा के अन्नराज घाटी में इससे पहले भी कई बार गाड़ियां दुर्घटनाग्रस्त हो चुकी हैं. (फोटो साभारः ANI)

नई दिल्लीः झारखंड के गढ़वा-अंबिकापुर मार्ग में सोमवार और मंगलवार की दरम्यानी रात बड़ा सड़क हादसा हो गया, जिसमें 6 लोगों की मौत हो गई और 39 लोग घायल हो गए. मिली जानकारी के मुताबिक गढ़वा से 14 किलोमीटर दूर स्थित अन्नराज नावाडीह घाटी में छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर से गढ़वा आ रही यात्री बस देर रात करीब 2:30 बजे पलट गई. जिससे इस हादसे में करीब 39 यात्री घायल हो गए तो वहीं 6 लोगों की घटना स्थल पर ही मौत हो गई.

स्थानीय लोगों ने बताया कि बस घाटी से नीचे गिर गई थी, जिसके बाद बस घाटी के बीच ही टंग गई. हालांकि बस के घाटी के बीचों-बीच टंगने से कई लोगों की जान बच गई, लेकिन इस दौरान यात्री काफी घबराए हुए थे. घटना के बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस को इसकी जानकारी दी, जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने राहत बचाव कार्य शुरू किया और लोगों को बस से बाहर निकाला गया. इस दौरान पुलिस के साथ स्थानीय ग्रामीणों ने भी लोगों की मदद की. पुलिस ने बताया कि बस में करीब 45 यात्री सवार थे, जिनमें से 6 की मौत हो गई, जबकि अन्य 39 में से कुछ को मामूली तो कुछ को गंभीर चोटें आई हैं.

कुल्लू के बंजार में हुए सड़क हादसे में घायलों के परिजनों ने सांझा किया अपना दुख, मृतकों का किया गया अंतिम संस्कार

मिली जानकारी के मुताबिक यात्रियों को शीशा तोड़कर क्रेन की मदद से बाहर निकाला जा रहा है. पुलिस ने करीब आधे लोगों को बस से बाहर निकाल लिया है, जबकि आधे यात्री अभी भी बस में फंसे हुए हैं. मृतकों में अभी तक एक महिला का ही शव निकाला जा सका है, जबकि दर्जनों लोग अभी भी बस में फंसे हुए हैं. उधर पंद्रह की संख्या में घायलों का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है, जिसमें कई लोगों की स्थिति गंभीर बनी हुई है. पुलिस और ग्रामीण रेस्क्यू करने में जुटे हुए हैं. बता दें कि इससे पहले भी इस घाटी में कई बार गाड़ियां दुर्घटनाग्रस्त हो चुकी हैं और लगातार यहां छोटी बड़ी गाड़ियों के दुर्घटनाग्रस्त होने का सिलसिला जारी है.