close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जेएमएम के दावे के बाद फिर से फेल होती दिख रही झारखंड में महागठबंधन बनाने की कवायद

लोकसभा चुनाव से पहले तालमेल में विधानसभा के चुनाव का नेता तय तो कर दिया गया था पर सीटों के दावेदारी ने अब पेंच उलझा दिया है.

जेएमएम के दावे के बाद फिर से फेल होती दिख रही झारखंड में महागठबंधन बनाने की कवायद
झारखंड में महागठबंधन की कवायद पर पेंच उलझ गया है. (फाइल फोटो)

रांचीः झारखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले विपक्ष महागठबंधन की कवायद में जुटी है. जेएमएम ने 41 सीट पर अपना दावा जताया तो बाकी दलों ने जेएमएम के फैसले पर आपत्ति जताई है. हेमंत सोरेन के फैसले पर सहयोगी दल उन्हें नसीहत देने लगे. वहीं, एक बार फिर जेएमएम के इस फैसले से महागठबंधन के बनने की कवायद पर ग्रहण लगता दिख रहा है.

क्या झारखंड में विधानसभा चुनाव से पहले विपक्ष के महागठबंधन का पेंच सुलझ पायेगा या सीटों के महत्वाकांक्षा की भेंट चढ़ जाएगा. यह सवाल इसलिए कि लोकसभा चुनाव से पहले तालमेल में विधानसभा के चुनाव का नेता तय तो कर दिया गया था पर सीटों के दावेदारी ने अब पेंच उलझा दिया है. जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष में विपक्ष के सबसे बड़े दल के नेता के तौर पर हेमंत सोरेन ने विधानसभा की कुल सीटों के आधे सीट पर अपना दावा पेश कर दिया है. झारखंड में विधानसभा की कुल 81 सीट हैं और 41 सीट पर जेएमएम ने दावा जताया है.

जेएमएम की तरफ से जैसे ही 41 सीटों पर दावेदारी जताई गई तो झारखंड राजद के प्रदेश अध्यक्ष ने हेमंत को सेक्रिफाइस करने की नसीहत दे डाला. झारखंड राजद ने सूबे में 81 में से 12 से 15 सीट पर अपने मजबूत आधार पर दावा ठोका है. साथ ही हेमंत को नसीहत देते हुए कहा, हेमंत सोरेन को सीएम बनना है, नेता पहले से तय है इसलिए हेमंत सोरेन को सेक्रिफाइस करने की सलाह मिल रही है.

जैसे ही महागठबंधन में आधे सीट यानी 41 सीट पर जेएमएम ने अपनी दावेदारी जताया तो कांग्रेस ने भी 81 में से 35 से 40 सीट पर अपना मजबूत आधार बताकर अपने इरादे साफ कर दिए हैं. साथ ही झारखंड कांग्रेस के नेता ने हेमंत को साफ साफ लहजे में कहा, दूसरे दल के नेताओ को हमारी सीट थ करने का अधिकार नहीं हमारे नेता हमारी सीट तय करेगें.

विधानसभा चुनाव से पहले जैसे ही महागठबंधन में सीटों के दावेदारी की बात सामने आई, विरोध और नसीहत से सुर सुनाई देने लगे हैं. जेएमएम के बाद कांग्रेस और राजद ने भी अपना दावा जता कर पेंच उलझा दिया है. महागठबंधन में अपनी दावेदारी जता रहे जेवीएम के नेता खुल कर सीटो की दावेदारी पर भले ही कुछ बोल नहीं रहे हों पर अंदर खाने 12 से 13 सीट पर जेवीएम की दावेदारी है. अब बड़ा सवाल यह कि क्या विपक्ष के महागठबंधन का पेंच सुलझे गा या महत्वाकांक्षा की भेंट चढ़ेगा.

झारखंड में विपक्ष महागठबंधन की कवायद में जुटा है, जेएमएम ने 41 सीट पर अपना दावा जताया है , तो कांग्रेस 35 से 40 सीट पर अपना मजबूत आधार बता रहा है. जबकि राजद भी 12 से 15 सीट पर उम्मीदवार उतारने की तैयारी में है, फिलहाल जेवीएम के नेता खुल कर सीट की दावेदारी तो नहीं जता रहे पर सूत्रों की मानें तो 13 सीट जेवीएम को भी विधानसभा चुनाव में महागठबंधन में चाहिए.