close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पटना : घटिया केक बेचने के मामले में दुकान का लाइसेंस रद्द, डॉक्टर ने की थी शिकायत

हल्दीराम भुजियावाला के नाम से पटना के पाटलीपुत्रा में चल रहे दुकान को बंद करने का आदेश दिया गया है. साथ ही दुकान का लाइसेंस भी अगले आदेश तक रद्द कर दिया गया है.

पटना : घटिया केक बेचने के मामले में दुकान का लाइसेंस रद्द, डॉक्टर ने की थी शिकायत
मिठाई दुकान में जांच करते अधिकारी.

पटना : बिहार की राजधानी पटना में हल्दीराम भुजियावाला नाम से चल रहे दुकान में घटिया केक बेचे जाने के मामले का खुलासा हो चुका है. हेल्थ डिपार्टमेंट के अधिकारियों ने दुकान का लाइसेंस अगले आदेश तक रद्द कर दिया है. शुरुआती जांच में पाया गया है कि दुकान में केक बनाने में एक्सपायर कलर का इस्तेमाल किया जा रहा था. मंगलवार की सुबह ही घटिया केक बेचे जाने की शिकायत पटना के डॉ. अजय कुमार ने स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव से की थी.

हल्दीराम भुजियावाला के नाम से पटना के पाटलीपुत्रा में चल रहे दुकान को बंद करने का आदेश दिया गया है. साथ ही दुकान का लाइसेंस भी अगले आदेश तक रद्द कर दिया गया है.

दरअसल, पटना के एक जानेमाने डॉ. अजय कुमार ने सोमवार की शाम इस दुकान से केक लिया था. लेकिन केक में इस्तेमाल किया गया रंग इतना घातक था की खाने के बाद पूरा मुंह रंग से भर गया. केक का रंग हाथ से भी नहीं छूट रहा था. पीड़ित डाक्टर ने इसकी शिकायत स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार से की. संजय कुमार ने मामले की जांच का आदेश दिया था.

जांच के पहले ही चरण में दुकान की लापरवाही सामने आ गयी. दुकान में जांच के लिए पहुंचे पटना के फूड इंसपेक्टर अजय कुमार को कई कमियां नजर आयीं. दुकान में बेचे जा रहे केक में जिस रंग का इस्तेमाल किया जा रहा था वह एक्सपायर था. इतना ही नहीं दुकानदार ने लाइसेंस भी किसी दूसरे के नाम पर ले रखा था और दुकान का नाम कुछ और ही रख लिया था.

फूड इंस्पेक्टर अजय कुमार ने बताया कि दुकान का लाइसेंस अगले आदेश तक रद्द कर दिया गया है. दुकान से पनीर समेत कई खाने के सैंपल लिए गए हैं, जिन्हें टेस्ट के लिए लैब में भेजा जाएगा. दुकान भी अगले आदेश तक बंद रहेगा.

इधर दुकान के मालिक अमित कुमार ने बताया कि दुकान के स्टाफ की गलती के कारण ये परेशानी आयी है. स्टाफ ने ध्यान नहीं रखा इसलिए एक्सपायर कलर का इस्तेमाल किया जाता रहा. वहीं, दुकान के रजिस्टर्ड नाम पर दुकान का नाम नहीं रखे जाने पर दुकान के मालिक ने बताया कि हमने हल्दीराम भुजियावाला दिल्ली की फ्रेंचाइजी ले रखी है. इसलिए दुकान में इस नाम का इस्तेमाल किया जा रहा है.