close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अयोध्या में राम मंदिर के फैसले पर चिराग पासवान बोले- SC ने किया सभी पक्षों के साथ न्याय

इससे पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया. सीएम नीतीश ने लोगों से सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करने की अपील की. 

अयोध्या में राम मंदिर के फैसले पर चिराग पासवान बोले- SC ने किया सभी पक्षों के साथ न्याय
चिराग पासवान ने किया सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत. (फाइल फोटो)

पटना: लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और जमुई से सांसद चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले पर बधाई दी है. उन्होंने कहा कि कई वर्षों से चल रहा विवाद अब सुलझ गया है. इस फैसले की संवेदनशीलता को समझते हुए सभी पक्षों के साथ न्याय किया गया है. साथ ही चिराग पासवान ने कहा कि अब देश में विकास के अतिरिक्त कोई और मुद्दा चर्चा के लिए शेष नहीं है. विकास पर चर्चा से देश आगे बढ़ेगा और उन्नति करेगा. लोगों को रोजगार के नए अवसर मिलेंगे.

अयोध्‍या केस (Ayodhya Case) को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने आज अपना ऐतिहासिक फैसला सुनाया. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने शिया वक्फ बोर्ड की याचिका खारिज कर दी. सभी पांच जजों ने सर्वसम्मिति से राम मंदिर के पक्ष में अपना फैसला सुनाते हुए विवादित स्थान से दूरी पर मस्जिद के लिए अलग से पांच एकड़ जमीन देने का आदेश दिया है.

इससे पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया. सीएम नीतीश ने लोगों से सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करने की अपील की. उन्होंने कहा कि चीफ जस्टिस की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने सभी पक्षों को सुनने के बाद यह फैसला सुनाया है.

साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश ने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद आगे किसी तरह का विवाद नहीं होनी चाहिए. सभी को कोर्ट के फैसले का सम्मान करना चाहिए. यही समाज में प्रेम और सद्भावना का वातावरण बनाए रखने के लिए जरूरी होगा.

वहीं, बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि सभी लोगों को सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले इंतजार था. सभी लोगों को इसका सम्मा करना चाहिेए और पालन करना चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि हम मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे और चर्च में कभी पराया नहीं समझा. साथ ही उन्होंने राजनीतिक दलों और राजनेताओं से इसके साथ स्कूल, कॉलेज और अस्पताल बनाने पर ध्यान देने के लिए कहा.