close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चमकी बुखार: मुजफ्फरपुर MP का बेतुका बयान, बच्चों की मौत के लिए '4G' को ठहराया जिम्मेदार

हर दिन बड़े नेता वहां दौरे पर पहुंच रहे हैं लेकिन अब इसी जिले के सांसद अजय निषाद ने बेतुका बयान दिया है. 

 चमकी बुखार: मुजफ्फरपुर MP का बेतुका बयान, बच्चों की मौत के लिए '4G' को ठहराया जिम्मेदार
अजय निषाद ने बच्चों की मौत के लिए 4जी को जिम्मेदार ठहराया है.

मुजफ्फरपुर: चमकी बुखार के कारण बिहार में लगातार बच्चों की मौत हो रही है. पूरे देश का ध्यान अभी बिहार में मुजफ्फरपुर  के एसकेएमसीएच अस्पताल पर है जहां हर दिन कई बच्चे चमकी बुखार की वजह से भर्ती हो रहे हैं. हर दिन बड़े नेता वहां दौरे पर पहुंच रहे हैं लेकिन अब इसी जिले के सांसद अजय निषाद ने बेतुका बयान दिया है. 

अजय निषाद ने कहा है कि बच्चों की हो रही मौतों के लिए 4 जी जिम्मेदार है. 4जी से उनका मतलब गांव, गरीबी,गर्मी और गंदगी से है. उन्होंने कहा कि बिहार के पिछड़े समाज का ताल्लुक 4जी से है. साथ ही उन्होंने सीएम नीतीश कुमार को मुजफ्फरपुर दौरे के लिए धन्यवाद दिया. 

 

आपको बता दें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज इंसेफ्लाइटिस से पीड़ित बच्चों और परिजनों से मिलने के लिए मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच अस्पताल पहुंचे. लेकिन एसकेएमसीएच अस्पताल में लोगों ने नीतीश कुमार का जमकर विरोध किया. 

वहां मौजूद लोग सीएम वापस जाओ के नारे लगाए. आपको बता दें कि लंबे से नीतीश कुमार के मुजफ्फरपुर नहीं पहुंचने के कारण सियासत हो रही है. वहां के लोगों में भी इस बात को लेकर आक्रोश था और आज जब नीतीश कुमार अस्पताल पहुंचे तो उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा.  वहीं, नीतीश कुमार के दौरे के बाद बच्चों का खास ख्याल रखने के लिए कुछ बड़े कदम उठाए गए हैं. 

मुख्य सचिव दीपक कुमार ने कहा है कि अस्पताल पहुंचने में देरी करने से बच्चों की मौत हो रही है. सरकार 400 एम्बुलेंस के लिए पैसे दे रही है, लोगों को जितना जल्दी हो सके उन्हें हॉस्पिटल पहुचना चाहिए. 
उन्होंने कहा कि बच्चों के इलाज के लिए बाहर से भी मुजफ्फरपुर से डॉक्टर भेजे जा रहे हैं. पीएमसीएच और डीएमसीएच से भी डॉक्टर भेजे जा रहे हैं लेकिन बीमारी के कारणों का पता नहीं चल पा रहा है. सभी मरीज अलग-अलग बैकग्राऊंड के हैं. 
दीपक कुमार ने बताया कि 400 से अधिक बच्चे प्रभावित हुए हैं और कल से सभी बच्चों के घरों की ऑडिट की जाएगी. साथ ही एसकेएमसीएच में 2500 बेड बनाया जाएगा और इसके साथ ही धर्मशाला भी बनाया जाएगा. साथ ही उन्होंने कहा कि यह धर्मशाला परिजनों के रुकने के लिए बनाया जाएगा.