मोतिहारी में हुई अनोखी शादी, विवाह से पहले गांव में आ गई बाढ़ तो नाव से पहुंचे बाराती

Motihari News: ढेकहां गांव समेत कई गांवों का अधिकांश हिस्सा बाढ़ से प्रभावित है.   

मोतिहारी में हुई अनोखी शादी, विवाह से पहले गांव में आ गई बाढ़ तो नाव से पहुंचे बाराती
शादी से पहले गांव में आई बाढ़ नाव से पहुंची बारात (फाइल फोटो)

Motihari: मोतिहारी जिले के केसरिया प्रखंड का सुन्दरापुर, ढेकहा, मझरिया, कढान, बैरिया, इत्यादि गांव गण्डक नदी के किनारे है. ये गांव आजकल बाढ़ का कहर झेल रहा है. नेपाल से पानी छोड़ने के बाद हर तरफ पानी ही पानी है. इस दौरान हर तरफ बाढ़ ने हाहाकार मचा रखा है. लोग अपनी जान बचाकर ऊंचे स्थानों पर शरण ले जान माल की रक्षा करने में जूटे हैं.
 
ढेकहां गांव समेत कई गांवों का अधिकांश हिस्सा बाढ़ से प्रभावित है. उसी बाढ़ से प्रभावित ढ़ेकहां निवासी उज्जैन सहनी के घर में शादी विवाह का माहौल है. उनकी लड़की खुशबू कुमारी की अनोखी शादी का माहौल कायम हुआ. ढेकहां गांव एक तरफ बाढ़ से जलमग्न हो गया है और दूसरी तरफ बाढ़ के पानी के बीचों-बीच स्थित उज्जैन सहनी का घर है जिसके चारों तरफ पानी ही पानी है. 

ये भी पढ़ें- Bettiah में 'काल 'बना रहा है बाढ़ का पानी, टापू में तब्दील हुआ भंटाडीह गांव
 
उसमें नाव से बारात उनके दरवाजे पर पहुंच शादी के माहौल में बदल गया. इस भीषण बाढ़ में प्रखंड का एक अनोखा शादी ही कहा जाएगा. इसमें दूल्हा और बाराती दोनों नाव से पहुंचा और शादी विवाह रश्मों रिवाज के साथ संपन्न हुआ.
 
बारात मोतिहारी के बगल गांव से आया था. इस संदर्भ में उज्जैन सहनी ने बताया कि आज मेरी लड़की खुशबू कुमारी की शादी है और जेष्ठ माह में बाढ़ अपना कहर बरपा देगा यह हमे मालूम नहीं था. इस संदर्भ में अंचल प्रशासन की ओर से कोई सहायता प्रदान नहीं किया गया है. वहीं, उन्होंने बताया कि तीन बड़ा नाव 18 हजार रुपये में बारातियों के आने के लिए भाड़ा पर लाया गया है.

(इनपुट- पंकज कुमार)