close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मुजफ्फरपुर में हुए बच्चों की मौत को लेकर अभिनेता पंकज त्रिपाठी ने लिखी भावुक चिट्ठी

बिहार में 167 बच्चों की मौत ने सभी को झंकझोर कर रख दिया है. इसी आहत को बॉलीवुड के अभिनेता पंकज त्रिपाठी ने भी व्यक्त किया है. 

मुजफ्फरपुर में हुए बच्चों की मौत को लेकर अभिनेता पंकज त्रिपाठी ने लिखी भावुक चिट्ठी
अभिनेता पंकज त्रिपाठी ने भावुक चिट्ठी लिखी है. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः बिहार में लगातार एईएस यानी चमकी बुखार से लगातार बच्चों की मौत हो रही है. अब तक के आंकड़ो के मुताबिक 167 बच्चों की मौत चमकी बुखार से हो गई है. यह आंकड़ा बिहार के लोगों को झंकझोर कर रख दिया है. शमसान में बच्चों की लाशें देखी जा रही है. इस घटना से बॉलीवुड के एक अभिनेता भी काफी दुखी हैं. और अपने दुख को बताते हुए उन्होंने एक चिट्ठी लिखी है.

बिहार में हृदयविदारक घटना से सभी लोग आहत है. 167 बच्चों की मौत ने सभी को झंकझोर कर रख दिया है. इसी आहत को बॉलीवुड के अभिनेता पंकज त्रिपाठी ने भी व्यक्त किया है. और इसे लेकर उन्होंने एक भावुक चिट्ठी लिखी है.

पंकज त्रिपाठी ने अपने ट्विटर पर एक चिट्ठी पोस्ट की है, जिसमें उन्होंने बच्चों की मौत पर दुख व्यक्त किया है और कहा कि वह विचलित महसूस कर रहे हैं. साथ ही उन्होंने सरकार, सिस्टम, अधिकारी और समाज के सभी लोगों को उन मरे हुए बच्चों से माफी मांगने के लिए कहा है.

पंकज त्रिपाठी ने लिखा, 'मुजफ्फरपुर की घटना ने अंदर तक झकझोर कर रख दिया है. बहुत विचलित महसूस कर रहा हूं. समझ नहीं आता किस किस को दोष दें. एक देश, एक राज्य, एक समाज और एक व्यक्ति हर स्तर पर हमारी असफलता है यह. हम किस सदी में जी रहे हैं? सरकार, अधिकारी, सिस्टम, समाज, आप और हम सब को माफी मांगनी चाहिए बच्चों से.

Pankaj Tripathi wrote a sentimental letter about the death of children in Muzaffarpur

आपको बता दें कि, मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार का प्रकोप करीब एक दशक से चला आ रहा है. लेकिन इसके लिए अब तक कोई स्थायी समाधान नहीं निकाला जा सका है. वहीं, इस मामले में कई लोगों की लापरवाही भी सामने आई है. जबकि सरकार अभी भी इस बीमारी के बारे में रिसर्च करने के लिए एक साल तक का समय मांगा है.