पटना के किचन में अब पाइप लाइन से पहुंचेगी गैस, सड़कों पर चलेंगी CNG गाड़ियां

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पटना में गाड़ियों के लिए दो सीएनजी फिलिंग स्टेशन और करीब 1500 घरों में पाइप लाइन से गैस की आपूर्ति सेवा का शुभारंभ करेंगे.

पटना के किचन में अब पाइप लाइन से पहुंचेगी गैस, सड़कों पर चलेंगी CNG गाड़ियां
पटना में गैस पाइप लाइन परियोजना का होगा उद्घाटन. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना : बिहार की राजधानी पटना की सड़कों पर जल्द ही सीएनजी से चालित वाहन दौड़ेंगे और गृहणियों को रसोई घरों (किचेन) में पाइप लाइन से गैस यानी पीएनजी मिलेगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को पटना में गाड़ियों के लिए दो सीएनजी फिलिंग स्टेशन और करीब 1500 घरों में पाइप लाइन से गैस की आपूर्ति सेवा का शुभारंभ करेंगे. 

गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया (गेल) ने शनिवार को कहा कि पाइप्ड नेचुरल गैस (पीएनजी) और कंप्रेस्ड नेचुरल गैस (सीएनजी) से पटना की करीब 50 लाख की आबादी को सस्ता ईंधन मुहैया कराने का रास्ता साफ हो गया है. 

गेल ने कहा, "17 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पटना में गाड़ियों के लिए दो सीएनजी फिलिंग स्टेशन और करीब 1500 घरों में पाइप लाइन से गैस की आपूर्ति सेवा का शुभारंभ करेंगे. इसी दिन प्रधानमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बीआईटी परिसर में पीएनजी आपूर्ति की शुरुआत भी करेंगे."

गेल के कार्यपालक निदेशक केबी सिंह, मुख्य महाप्रबंधक पवन शर्मा और उप-महाप्रबंधक (निर्माण) केसी द्विवेदी ने संयुक्त रूप से पीएम के लोकार्पण कार्यक्रम की तैयारी का जायजा लिया है. 

केबी सिंह ने कहा, "18 फरवरी से जगदेव पथ के लगभग 1500 घरों में पीएनजी से चूल्हे जलने लगेंगे और मार्च तक इसके आस पास के लगभग पांच हजार घरों में पीएनजी के कनेक्शन का कार्य पूरा हो जाएगा. जिस क्षेत्र में अभी पाइप लगाने का काम हो चुका है, उस इलाके के एक किलोमीटर दायरे में पीएनजी कनेक्शन सोसाइटी या व्यक्तिगत स्तर पर दिया जाएगा. फिलहाल दो जगहों पर सीएनजी स्टेशन शुरू हो रहा है. "

कंपनी ने बताया कि सीएनजी की आपूर्ति शुरू होने के बाद शहर में डीजल से चलने वाले ऑटो का परमिट नहीं बढ़ाया जाएगा. गौरतलब है कि पटना में पेट्रोल की कीमत करीब 75 रुपये प्रति लीटर है. सीएनजी किट लगाने के बाद सफर काफी सस्ते में हो सकेगा. 

इंडियन ऑयल के पेट्रोल पंप ऑटो केयर और पटना सिटी के नगला स्थित सिटी सेंटर पेट्रोल पंप पर सीएनजी का नोजल स्थापित कर लिया गया है. बेली रोड पर गैस की आपूर्ति सीधे पाइप लाइन से होगी जबकि पटना सिटी के नगला सीएनजी स्टेशन को तत्काल मदर डिस्ट्रीब्यूटरी से टैंकर द्वारा आपूर्ति की व्यवस्था की गई है. इससे रसोई गैस, गाड़ियों, पब्लिक ट्रांसपोर्ट, ऊर्जा खपत वाले उद्योगों, होटल और रेस्तरां को सीधे फायदा पहुंचेगा.

गेल ने बताया कि पटना शहरी क्षेत्र में 5000 घरों में पीएनजी का मीटर लगा दिया गया है. जगदेव पथ के आसपास और आरा गार्डन रोड में बारी-बारी से मीटर शुरू किया जाएगा. जलालपुर सिटी, दानापुर रेलवे कॉलोनी तक 5000 किचन में पीएनजी से चूल्हे जलेंगे. दूसरे चरण में शास्त्री नगर, विद्युत बोर्ड कॉलोनी इलाके में सुविधा मिलेगी, जबकि तीसरे चरण में गांधी मैदान, फ्रेजर रोड और बेली रोड इलाके के लोगों को पीएनजी की सुविधा मिलेगी. छह महीने में कंकड़बाग कॉलोनी तक पीएनजी उपलब्ध होगी. 

गेल के मुख्य महाप्रबंधक पवन शर्मा ने गुरुवार को बीआईटी में लगाए गए मीटर का परीक्षण किया. पटना में तीन ऑटोमोबाइल वितरकों के यहां सीएनजी ऑटो उपलब्ध है. 

गौरतलब है कि होटल-रेस्तरां में पीएनजी इस्तेमाल होने से कार्बन डाइ-आक्साइड उत्सर्जन में 45 फीसदी कमी आएगी. डीजल और केरोसिन की तुलना में 30 फीसदी कम कार्बन निकलेगा. औद्योगिक क्षेत्र की इकाइयों में भी कम प्रदूषण होगा.

(IANS इनपुट)