Bihar में PM स्वनिधि योजना से 9,617 स्ट्रीट वेंडरों को मिला लाभ: तारकिशोर प्रसाद

प्रधानमंत्री स्व-निधि योजना: डिप्टी सीएम ने कहा कि पीएम स्व-निधि योजना के लिए 64,415 आवेदन प्राप्त हुए हैं, जिनमें 19743 आवेदनों की बैंक द्वारा स्वीति दे दी गई है तथा 9617 स्ट्रीट वेंडर को इस योजना के अंतर्गत ऋण मुहैया कराते हुए लाभान्वित किया गया है.

Bihar में PM स्वनिधि योजना से 9,617 स्ट्रीट वेंडरों को मिला लाभ: तारकिशोर प्रसाद
बिहार के डिप्टी सीएम हैं तारकिशोर प्रसाद. (तस्वीर साभार-@tarkishorepd)

पटना: बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद (Tarkishore Prasad) ने बुधवार को कहा कि कोरोना (Corona) काल में स्ट्रीट वेंडरों की दिक्कतों को महसूस करते हुए प्रारंभ की गई, प्रधानमंत्री स्व-निधि योजना के तहत बिहार में अब तक 9,617 स्ट्रीट वेंडरों को ऋण मुहैया कराया गया है. उन्होंने कहा कि राज्य में प्रधानमंत्री स्व-निधि योजना ( Pradhanmantri SVANidhi Yojana) के लिए 64,415 आवेदन प्राप्त हुए हैं, जिनमें 19743 आवेदनों की बैंक द्वारा स्वीति दे दी गई है तथा 9617 स्ट्रीट वेंडर को इस योजना के अंतर्गत ऋण मुहैया कराते हुए लाभान्वित किया गया है.

पटना में 17 वें राष्ट्रीय वेंडर दिवस (National Vendor Day) के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद (Tarkishore Prasad) ने कहा कि केंद्र एवं राज्य सरकार फुटपाथ दुकानदारों की समस्याओं के प्रति पूरी संवेदनशील एवं सजग है. उन्होंने कहा कि गली, मोहल्ला एवं सड़क किनारे ठेले पर दुकान लगाने वालों के लिए प्रधानमंत्री स्व-निधि योजना शुरू की गई है. इस योजना के तहत बिहार के स्ट्रीट वेंडर्स (फुटपाथ दुकानदार) को उनकी आजीविका में सहूलियत के लिए 10,000 रुपए तक के ऋण के साथ 7 प्रतिशत सूद अनुदान के रुप में दिए जाने का प्रावधान है.

इस योजना के तहत ठेले वाले, खोमचे वाले अथवा कोई भी स्ट्रीट वेंडर 10,000 रुपए तक का कर्ज ले सकते हैं तथा डिजिटल लेन-देन में कैश बैंक का लाभ भी प्राप्त कर सकते हैं. उन्होंने शहरी नगर निकायों एवं बैंक प्रतिनिधियों को निर्देश देते हुए कहा कि इस योजना के तहत अधिक से अधिक फुटपाथ दुकानदारों को लाभान्वित करने की दिशा में सकारात्मक प्रयास किए जाएं.

उन्होंने कहा कि शहरी वेंडिंग समिति का गठन कर फुटपाथ दुकानदारों का सर्वेक्षण कार्य पूरा कर लिया गया है. राज्य में अब तक 1,30,738 फुटपाथ दुकानदारों की पहचान की गई है, जिनमें 98,229 दुकानदारों को विक्रय प्रमाण पत्र उपलब्ध कराया गया है. पहचान पत्र के साथ ही योजना अंतर्गत नगर निकायों में वेंडिंग जोन के निर्माण का कार्य भी चल रहा है.

(इनपुट-आईएएनएस)

 

ये भी पढ़ें-Bihar Cabinet Expansion: कैबिनेट में युवाओं को मिल सकती है जगह, कई दिग्गजों का कट सकता है पत्ता!