प्रिंसिपल ने तीसरी कक्षा के छात्र को बनाया बंधक, गेट पर कपड़े सुखाने पर की पिटाई

टना के बाद मौके से प्रिंसिपल फरार हो गया. घटना की सूचना मिलते ही फारबिसगंस पुलिस मौके पर पहुंचे और छात्र से घटना की पूरी जानकारी ली. पुलिस फिलहाल आरोपी प्रिंसिपल की तलाश में जुट गई है.

प्रिंसिपल ने तीसरी कक्षा के छात्र को बनाया बंधक, गेट पर कपड़े सुखाने पर की पिटाई
छात्र के पूरे शरीर पर पिटाई के निशान हैं.

फारबिसगंज: बिहार के फारबिसगंज में मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है. जहां स्कूल को शिक्षा का मंदिर और शिक्षकों को भगवान माना जाता है वहीं, फारबिसगंज में तीसरी क्लास के एक छात्र को तीन दिन तक बंधक बना कर पिटाई करने का मामला सामने आया है. फारबिसगंज के आर्यभट्ट पब्लिक स्कूल में तीसरी कक्षा में पढ़ने वाले बच्चे को किसी और ने नहीं बल्कि स्कूल के ही प्रिंसिपल अशोक झा ने तीन दिन तक बंधक बना कर रखा और उसकी पिटाई की. 

छात्र के पूरे शरीर पर पिटाई के निशान हैं. इतना ही नहीं छात्र का एक दांत भी टूट गया है. छात्र की गलती सिर्फ इतनी थी कि उसने गीले कपड़े विद्यालय के गेट पर सूखने डाले थे. छात्र के गीले कपड़े सूखते देखकर प्रिसिंपल का गुस्सा फूट पड़ा और छात्र की जमकर पिटाई कर दी. प्रिंसिपल ने तीन दिनों तक बच्चे को बंधक भी बना कर रखा.

मंगलवार को जब मकर संक्रांति के मौके पर पीड़ित छात्र के परिजन मिलने के लिए गए तो प्रिंसिपल ने बच्चे से मिलने नहीं दिया और परिजनों को स्कूल से भगा दिया. प्रिंसिपल की इस हरकत पर परिजनों को शक हुआ और वो जन अधिकार परिषद के कार्यकर्ताओं के साथ विद्यालय पहुंचे और बच्चे की स्थिति देखकर जमकर हंगामा किया.  

इस घटना के बाद मौके से प्रिंसिपल फरार हो गया. घटना की सूचना मिलते ही फारबिसगंस पुलिस मौके पर पहुंचे और छात्र से घटना की पूरी जानकारी ली. पुलिस फिलहाल आरोपी प्रिंसिपल की तलाश में जुट गई है.