Katihar: Ambulance ही बन रही है मरीजों की 'दुश्मन', चालक ने किया चौंकाने वाला खुलासा

Katihar News: चालकों की मानें तो हॉस्पिटल के उच्च अधिकारी की वजह से बिना सेनिटाइज किए हुए एम्बुलेंस से अन्य बीमारों को सुविधा देना हमारी मजबूरी बन गयी है.  

Katihar: Ambulance ही बन रही है मरीजों की 'दुश्मन', चालक ने किया चौंकाने वाला खुलासा
Ambulance ही बन रही है मरीजों की 'दुश्मन.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

Katihar: बिहार के कटिहार में सायरन बजाने वाली रहने एम्बुलेंस से लोगों को सावधान रहने की जरूरत है. क्योंकि स्वास्थ्य समिति से संचालित कटिहार अनुमंडल के तीन एम्बुलेंस बिना सेनेटाइज के मरीजों को हॉस्पिटल पहुंचा रहे हैं. ये चौंकाने वाला खुलासा एम्बुलेंस के चालकों ने ही किया है. वहीं, अब इस खुलासे से स्वास्थ्य विभाग और हॉस्पिटल प्रशासन पर सवालिया निशान खड़ा हो गया है. साथ ही मरीजों की हालत पर सोचने को मजबूर कर रहा है.

जानकारी के अनुसार, ये सभी स्वास्थ्य समिति से संचालित एम्बुलेंस पॉजिटिव और निगेटिव मरीजों को उनके स्वास्थ्य लाभ के लिए हॉस्पिटल पहुंचाता है. ताकि उनकी जिंदगी सलामत रहे. लेकिन जिस एम्बुलेंस वाहन से उन संक्रमितों को अस्पताल या बेहतर इलाज के लिए रेफर किया जाता है. उसी एम्बुलेंस की सेवा अन्य मरीजों को भी बेधड़क बिना सेनेटाइज किए हुए इस वाहन की सुविधा दे दी जाती है. ये खुलासा स्वास्थ्य समिति से संचालित इन एम्बुलेंस चालकों ही किया है.

ये भी पढ़ें-Purnia: मोबाइल गेम खेलना पड़ा आयुष को भारी, इस गलती की वजह से चली गई जान

चालकों की मानें तो हॉस्पिटल के उच्च अधिकारी की वजह से बिना सेनिटाइज किए हुए एम्बुलेंस से अन्य बीमारों को सुविधा देना हमारी मजबूरी बन गयी है. उनका कहना है कि अस्पताल के पदाधिकारियों को सेनिटाइज करने कहने पर टाल-मटोल कर दिया जाता है. जिस वजह से संक्रमण का खतरा बढ़ता चला जा रहा है. 

वहीं, जब इस गंभीर मामले पर सिविल सर्जन से सवाल पूछा गया तो सिविल सर्जन ने तो पहले सेनिटाइज होने वाली फाइलों को काफी देर तक ढूंढा. लेकिन लगातार सवाल पूछे जाने पर कहा, 'No Comments.'

(इनपुट-राजीव रंजन)