close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार के चर्चित जहानाबाद जेल में छापेमारी, कैदियों में मचा हड़कंप

बिहार के कई जिलों के जेल में सघन छापेमारी की जा रही है. मुख्य सचिव के निर्देशानुसार मुख्य जहानाबाद मंडल कारा में डीएम और एसपी के नेतृत्व में छापेमारी की गई.

बिहार के चर्चित जहानाबाद जेल में छापेमारी, कैदियों में मचा हड़कंप
जहानाबाद जेल में छापेमारी की गई है.

जहानाबादः बिहार के कई जिलों के जेल में सघन छापेमारी की जा रही है. बताया जा रहा है कि गुरुवार को जेल में छापेमारी का निर्देश दिया गया. जिसके बाद अधिकारियों की टीम लगातार बिहार के कई जेलों में छापेमारी की जा रही है. इस छापेमारी से कैदियों में काफी हड़कंप मच गया है. साथ ही छापेमारी में कई आपत्तिजनक सामान भी बरामद हो रहे हैं.

मुख्य सचिव के निर्देशानुसार मुख्य जहानाबाद मंडल कारा में डीएम और एसपी के नेतृत्व में छापेमारी की गई. इस छापेमारी में जेल के अंदर से भारी मात्रा में आपत्तिजनक सामान बरामद किया गया है. छापेमारी शुरू होते ही जेल में हड़कंप मच गया.

पुलिस को इस छापेमारी में 5 मोबाइल 8 चार्जर के इलावा गांजा खैनी और चाकू भी बरामद किया गया. छापेमारी का नेतृत्व कर रहे जिलाधिकारी ने बताया कि सभी वार्डों की सघन तलाशी ली गई जिसमें आपत्तिजनक सामान बरामद किया गया है. इस बरामदगी को लेकर काको थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई जा रही है.

वहीं, उन्होंने कहा कि निरीक्षण के क्रम में जेल में कई कमियां पाई गई है. जिसे दूर करने के लिए जेल प्रशासन को आदेश दिया गया है.

गौरतलब है कि जहानाबाद मंडल कारा चर्चा में रही ह. दो माह पूर्व भी छापेमारी के दौरान मोबाइल फोन सहित कई आपत्तिजनक सामान बरामद किया गया था. मोबाइल किसका है,कैसे पहुंचा इन सब के बारे में छानबीन की जा रही है.

बिहार में कुछ महीनों से लगातार कई मौकों पर छापेमारी की जा रही है. चुनाव से पहले भी सघन छापेमारी की गई थी. साथ ही इससे पहले भी प्रदेश में क्राइम बढ़ने के बाद भी छापेमारी की गई थी. छापेमारी के दौरान भी कई बार जेल से कैदियों के पास से आपत्तिजनक सामान बरामद किए गए थे. जिसकी कैदियों को रखना मना था.

ऐसे में जेल के अधिकारियों पर भी सवाल खड़े किए गए थे. और कई मामलों में जांच के आदेश भी दिए गए. लेकिन जेल में अभी भी सुरक्षा के नाम पर लापरवाही बरती जा रही है. इस वजह से कैदियों के पास से आपत्तिजनक सामान बरामद किए गए हैं.