Jharkhand: PM मोदी की महत्वकांक्षी लाइट हाउस प्रोजेक्ट ने पकड़ी रफ्तार, एक साल के भीतर पूरा होगा काम

Jharkhand News: राजधानी रांची में शुरुआती विरोध के बाद सॉइल टेस्ट हुआ और साइल टेस्ट के बाद अब निर्माण कार्य शुरू हो गया है.  

Jharkhand: PM मोदी की महत्वकांक्षी लाइट हाउस प्रोजेक्ट ने पकड़ी रफ्तार, एक साल के भीतर पूरा होगा काम
लाइट हाउस प्रोजेक्ट ने पकड़ी रफ्तार (फाइल फोटो)

Ranchi: झारखंड समेत 6 राज्यों के शहरों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की महत्वकांक्षी योजना लाइट हाउस प्रोजेक्ट (Light House Project) का काम चल रहा है. इसमें झारखंड की राजधानी रांची (Ranchi) भी है. राजधानी रांची सहित तमाम लाइट हाउस प्रोजेक्ट को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऑनलाइन समीक्षा की.

बता दें कि 1 जनवरी 2021 को रांची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाइट हाउस प्रोजेक्ट की शुरुआत की थी. इसके तहत पीएम ने अगरतला (त्रिपुरा), रांची (झारखंड), लखनऊ (उत्तर प्रदेश), इंदौर (मध्य प्रदेश), राजकोट (गुजरात) और चेन्नई (तमिलनाडु) में लाइट हाउस प्रोजेक्ट्स की आधारशिला रखी थी. योजना के मुताबिक, हर शहर में इस तरह के एक हजार आवासों का निर्माण किया जाना है.

जानकारी के अनुसार, इन प्रोजेक्ट को एक साल के भीतर पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. राजधानी रांची में शुरुआती विरोध के बाद सॉइल टेस्ट हुआ और साइल टेस्ट के बाद अब निर्माण कार्य शुरू हो गया है जिस का जायजा लेने के लिए नगर विकास सचिव विनय कुमार चौबे व एसडीओ रांची नगर आयुक्त सहित तमाम लोग धुर्वा पहुंचे थे. 

इस मामले की जानकारी देते हुए नगर विकास सचिव ने बताया कि इस प्रोजेक्ट के तहत पूरा कारपेट एरिया 34.50 वर्ग मीटर में होगा, इसके तहत 14 मंजिला टावर बनाए जाएंगे. कुल 1,040 फ्लैट तैयार होंगे, हर फ्लैट 415 वर्ग फुट का होगा. 

रांची में भी इस प्रोजेक्ट की शुरुआत हो चुकी है और साथ ही साथ अब तक तकरीबन 30 से ज्यादा आवेदन भी आ चुके हैं. निर्माण को लेकर नगर विकास सचिव विनय कुमार चौबे ने एक नई बात बताई की लाइट हाउस प्रोजेक्ट के तहत एक अंतरराष्ट्रीय स्तर का फुटबॉल स्टेडियम भी बनाया जाएगा साथ ही साथ एक कम्युनिटी हॉल का भी निर्माण कराया जा रहा है.

बहरहाल, शहरी गरीबों के आवास का सपना लाइट हाउस प्रोजेक्ट के तहत पूरा होगा. विरोध के साथ शुरू हुए इस लाइट हाउस प्रोजेक्ट में अब निर्माण कार्य में तेजी पकड़ ली है जो राहत भरी खबर है.