close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

JDU के पोस्टर पर सुशील मोदी की नसीहत, बोले- 'यह चुनावी मोड में आने का समय नहीं'

सुशील मोदी के ट्वीट राजनीतिक प्रतिक्रिया भी आई. मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) ने इसे जेडीयू के लिए नसीहत बताया है.

JDU के पोस्टर पर सुशील मोदी की नसीहत, बोले- 'यह चुनावी मोड में आने का समय नहीं'
पोस्टर वार पर सुशील मोदी की नसीहत... (फाइल फोटो)

पटना : बिहार की सत्तारूढ़ जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) के पोस्टर पर विरोधी तो सवाल उठा ही रहे थे, लगे हाथ सहयोगी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने भी नसीहात दो दी है. नसीहत देने वाले कोई और नहीं, बल्कि बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि यह समय एनडीए के लिए चुनावी मोड में आने का नहीं, बल्कि ज्यादा से ज्यादा विकास का काम करने का है. 

सुशील मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, 'राज्य में विधानसभा के चुनाव होने में जब एक साल से ज्यादा वक्त बचा है. एनडीए के लिए यह चुनावी मोड में आने का नहीं, कार्यकाल की शेष अवधि में विकास के ज्यादा से ज्यादा काम करने का समय है.' वह आगे लिखते हैं, 'हमारे यहां नेतृत्व को लेकर न कोई संशय है, न कोई अन्तर्कलह.'

सुशील मोदी के ट्वीट राजनीतिक प्रतिक्रिया भी आई. मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) ने इसे जेडीयू के लिए नसीहत बताया है. आरजेडी नेता विजय प्रकाश ने कहा कि एक तरफ जेडीयू पोस्टर लगाकर चुनावी मोड में आई है वहीं, सुशील मोदी काम करने की बात कर रहे हैं. यह जेडीयू के लिए नसीहत है.

सुशील कुमार मोदी के ट्वीट पर जेडीयू ने भई सफाई दी है. उन्होंने कहा कि उनके ट्वीट पर विपक्ष बेतुका बात कर रहा है. पार्टी के प्रवक्ता निखइल मंडल ने कहा कि जेडीयू ने कोई प्रचार नहीं शुरू किया है. ऑफिस के बाहर एक होर्डिंग लगाई है.

ज्ञात हो कि हाल ही में जेडीयू दफ्तर के बाहर एक होर्डिंग लगाई गई थी, जिसमें एक स्लोगन दिया गया था. होर्डिंग पर लिखा था, 'क्यूं करें विचार, ठीके तो हैं नीतीश कुमार'. इस पोस्टर के बाद बिहार की सियासत अचानक चुनावी मोड में आ गई थी.

लाइव टीवी देखें-: