close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: न्याय दिलाने के नाम पर पुलिसवाले ने महिला से मांगी उसकी आबरू, ऑडियो वायरल

आरोप है कि दारोगा धनेश्वर मंडल न्याय दिलाने के नाम पर महिला को रात के अंधेरे में अपने आवास पर बुलाता है. इसके साथ ही वह महिला से फोन पर गंदी बातें भी करता है. 

बिहार: न्याय दिलाने के नाम पर पुलिसवाले ने महिला से मांगी उसकी आबरू, ऑडियो वायरल
मधेपुरा के चौसा थाना की घटना.

शंकर कुमार, मधेपुरा : बिहार के मधेपुरा में न्याय दिलाने के नाम पर थानेदार ने महिला से उसकी अस्मत ही मांग दी. इसके लिए थानेदार ने महिला को रात के अंधेरे में अपने आवास पर बुलाया. इससे पहले भी कई मामले में मधेपुरा पुलिस शर्मसार और बदनाम हो चुकी है. उदाकिशुनगंज अनुमंडल के चौसा थाना में पदस्थापित थानेदार धनेश्वर मंडल की गंदी बातों को ऑडियो वायरल हो रहा है.

इस पूरे मामले में आरोपी दरोगा अपनी सफाई दे रहा है. उनका कहना है कि सारे आरोप निराधार हैं. मुझे बदनाम करने की कोशिश की जा रही है. साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि उसे ब्लैकमेल करने की कोशिश भी की जा रही है.

आरोप है कि दारोगा धनेश्वर मंडल न्याय दिलाने के नाम पर महिला को रात के अंधेरे में अपने आवास पर बुलाता है. इसके साथ ही वह महिला से फोन पर गंदी बातें भी करता है. बातचीत का ऑडियो लगातार कई दिनों से सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. ज्ञात हो कि इस वायरल ऑडियो का सत्यापन जी मीडिया नहीं करता है.

आरोप है कि चौसा थानाध्यक्ष ने एफआईआर दर्ज करने और आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए साथ में रात गुजारने की शर्त रख दी. मामले सामने आने पर जिस महिला से मात्र दो महीनों में 30 से ज्यादा बार मोबाइल फोन पर बात किया हो उसे पहचानने तक से किया इनकार कर दिया.

ज्ञात हो कि चौसा थाना क्षेत्र की रहने वाली पीड़ित महिला अपने पति के साथ छोटा सा होटल चलाती थी, जिसके सामने एक कम्प्यूटर शिक्षण केंद्र चलाने वाले मो. मोजिम से उसे प्यार हो गया. कुछ दिन बाद वह उसके साथ शादी कर रहने लगी. करीब तीन साल बाद महिला को मजिम ने छोड़ दिया. करीब तीन महीना पूर्व महिला ने चौसा थाना पहुंचकर मो. मोजिम के खिलाफ आवेदन दिया.

महिला की मानें तो तत्कालीन थाना अध्यक्ष राजकिशोर मंडल ने आवेदन पर कोई कार्रवाई नहीं की. कई दिनों तक वह थाने की चक्कर भी लगाई, लेकिन पुलिस उसे आश्वासन देती रही. इसी बीच एक मामले में राजकिशोर मंडल सस्पेंड हो गए. धनेश्वर मंडल चौसा के थाना अध्यक्ष बने. महिला का आरोप है कि धनेश्वर मंडल ने एफआईआर दर्ज करने और आरोपी की गिरफ़्तारी के लिए उसके साथ महीनों से गंदी बातें की.

लाइव टीवी देखें-: