close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: पक्ष‍ियों से टकराया एयरक्राफ्ट, आसमान में एक इंजन हुआ बंद तो पायलट ने इस तरकीब से बचाया जगुआर

टेक-ऑफ के फौरन बाद हुई इस दुर्घटना में फाइटर जेट का एक इंजन बंद हो गया. टेकऑफ करते समय इस जगुआर में एक्स्ट्रा फ्यूल टैंक और प्रैक्टिस में काम आने वाले बम भी थे.

VIDEO: पक्ष‍ियों से टकराया एयरक्राफ्ट, आसमान में एक इंजन हुआ बंद तो पायलट ने इस तरकीब से बचाया जगुआर

अंबाला: हरि‍याणा के अंबाला में 27 जून को एक बड़ा हादसा होते होते बचा. लेकिन पायलट की सूझबूझ से न केवल भारतीय वायुसेना का एयरक्राफ्ट जगुआर बच गया, बल्‍क‍ि एक बड़ा हादसा होते होते टल गया. गुरुवार को एक एक्‍सरसाइज के दौरान जगुआर take off करते ही पक्ष‍ियों से टकरा गया. टेक-ऑफ के फौरन बाद हुई इस दुर्घटना में फाइटर जेट का एक इंजन बंद हो गया. टेकऑफ करते समय इस जगुआर में एक्स्ट्रा फ्यूल टैंक और प्रैक्टिस में काम आने वाले बम भी थे.

अंबाला एयरबेस के आसपास घनी आबादी है अगर जेट जमीन पर गिरता तो जान-माल के बड़े नुकसान का ख़तरा था. पायलट ने खतरे को भांपकर सबसे पहले फ़ाइटर जेट में लगे हुए दो एक्स्ट्रा फ्यूल टैंकों के अलग कर दिया. साथ ही उसने जेट में लगे हुए बमों को भी अलग कर दिया. ऐसा करके उसने जेट को हल्‍का कर लिया और इसके बाद जगुआर केवल दूसरे इंजन के सहारे सुरक्षित वापस लैंड कर गया.

फ्यूल टैंक और बम सुरक्षित जमीन पर गिरे, जिन्हें बाद में वायुसेना ने अपने कब्जे में कर लिया. हालांक‍ि इसके बाद हुए एक जोरदार धमाकों ने चारों के वातावरण को धुंए से भर दिया.

वायुसेना के एक अधिकारी ने कहा कि पायलट ने न केवल फ़ाइटर जेट को बचाया बल्कि उसने नागरिक आबादी को होने वाले बड़े नुकसान को भी टाल दिया. उन्‍होंने कहा," एयरबेस के आसपास पक्षियों से फ़ाइटर जेट्स को सबसे ज्यादा ख़तरा होता है. लगभग सारे एयरबेस के चारों तरफ़ घनी आबादी भी हो गई है. उससे निकलने वाले कचरे से आकर्षित होकर पक्षी आते हैं और जेट्स के लिए ख़तरा बनते हैं." वायुसेना समय-समय पर लोगों को इस समस्या के लिए जागरूक करने का अभियान चलाती रहती है.