‘हिटलर महान आदमी था, भारत से चले जाओ’ इजराइली राजदूत को मिला नफरती मैसेज, स्क्रीन शॉट किया शेयर
topStories1hindi1468927

‘हिटलर महान आदमी था, भारत से चले जाओ’ इजराइली राजदूत को मिला नफरती मैसेज, स्क्रीन शॉट किया शेयर

Israeli Ambassador: इजराइली राजदूत नोर गिलोन ने कहा कि सिर्फ यह बताने के लिए डीएम शेयर किया कि इस तरह की यहूदी-विरोधी भावनाएं मौजूद हैं, हमें संयुक्त रूप से इसका विरोध करने और चर्चा के सभ्य स्तर को बनाए रखने की आवश्यकता है. 

‘हिटलर महान आदमी था, भारत से चले जाओ’ इजराइली राजदूत को मिला नफरती मैसेज, स्क्रीन शॉट किया शेयर

Israel News: फिल्मकार विवेक अग्निहोत्री की 'द कश्मीर फाइल्स' को लेकर चल रहे विवाद के बीच भारत में इजराइल के राजदूत नोर गिलॉन ने शनिवार को ट्विटर पर उन्हें कथित तौर पर प्राप्त मैसेज का एक स्क्रीनशॉट भी शेयर किया जिसमें हिटलर को महान बताया गया था.

इजरायली दूत ने ट्वीट किया, ‘मैं हाल ही मिले कुछ डीएम में से एक को साझा करना चाहता था. उसकी प्रोफाइल के मुताबिक, वह पीएचडी कर चुका है. भले ही वह मेरी सुरक्षा के लायक नहीं है, फिर भी मैंने उसकी पहचान बताने वाली जानकारी को मिटाने का फैसला किया.‘  कथित मैसेज में लिखा था, ‘तुम जैसे...को जलाने वाला हिटलर महान था, तुरंत भारत से चले जाओ, हिटलर महान व्यक्ति था.’ बता दे पिछली सदी में जर्मनी का तानाशाह हिटलर 60 लाख यहूदियों की हत्या का जिम्मेदार. इस नरसंहार को होलोकॉस्ट के नाम से जाना जाता है.

 

इसके बाद किए एक फॉलो-अप ट्वीट में, उन्होंने अपने शुभचिंतकों को धन्यवाद देते हुए कहा कि उनसे मिला समर्थन से वह बहुत भावुक हो गए हैं. उन्होने कहा यह डीएम सिर्फ यह बताने के लिए शेयर किया कि इस तरह की यहूदी-विरोधी भावनाएं मौजूद हैं, हमें संयुक्त रूप से इसका विरोध करने और चर्चा के सभ्य स्तर को बनाए रखने की आवश्यकता है.

'द कश्मीर फाइल्स' को लेकर विवाद में  गिलोन ने कही थी ये बात 
यह कथित मैसेज गिलोन द्वारा नादव लापिड की आलोचना करने के बाद सामने आया है. बता दें नोर गिलोन ने द कश्मीर फाइल्स फिल्म  की आलोचना करने वाले नादव लापिड के लिए ओपन लेटर लिखा था. पत्र में उन्होंने कहा था कि भारतीय संस्कृति में कहा जाता है कि अतिथि भगवान के समान होता है. तुमने, अपने जजों के पैनल की अध्यक्षता करने के भारतीय निमंत्रण का सबसे खराब तरीके से दुरुपयोग किया है.

नादव लापिड गोवा में हुए भारत के अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव की निर्णायक मंडली के अध्यक्ष थे. उन्होंने समापन समारोह में ‘द कश्मीर फाइल्स' की तीखी आलोचना करते हुए उसे ‘प्रोपेगैंडा' और ‘अश्लील फिल्म' तक कह दिया था. ‘द कश्मीर फाइल्स' 90 के दशक में कश्मीरी पंडितों के पलायन और उन पर हुए अत्याचरों पर आधारित फिल्म है.

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की जरूरत नहीं

 

Trending news