close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छत्तीसगढ़: ड्यूटी के दौरान सो रहे थे जेल प्रहरी, कैदियों ने तोड़ा ताला और हो गए फरार

बताया जा रहा है कि कैदियों ने पहले बैरक का ताला तोड़ा. इसके बाद वह गमछे के सहारे जेल की दीवार फांदकर फरार हो गए. 

छत्तीसगढ़: ड्यूटी के दौरान सो रहे थे जेल प्रहरी, कैदियों ने तोड़ा ताला और हो गए फरार
फिलहाल इस मामले में जेल प्रबंधन की ओर से दो प्रहरियों को सस्पेंड कर दिया गया है.

बिलासपुर: छत्तीसगढ़ में मुंगेली की उपजेल से बीती रात करीब सवा 12 बजे चार कैदी फरार हो गए. बताया जा रहा है कैदियों ने पहले बैरक का ताला तोड़ा और उसके बाद जेल की दीवार फांदकर फरार हो गए. प्राप्त जानकारी के अनुसार, फरार कैदियों में हत्या, बलात्कार और अपहरण के आरोपी शामिल हैं. वहीं, कैदियों के फरार होने के मामले में 2 प्रहरियों को सस्पेंड कर दिया गया है. बताया जा रहा है कि दोनों प्रहरी ड्यूटी के दौरान सो रहे थे. 

दरअसल, मुंगेली उपजेल से 4 कैदी बैरक का ताला तोड़ कर बीती रात फरार हो गए थे. बताया जा रहा है कि कैदियों ने पहले बैरक का ताला तोड़ा. इसके बाद वह गमछे के सहारे जेल की दीवार फांदकर फरार हो गए. फरार कैदियों में मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के कैदी शामिल हैं. फिलहाल इस मामले में जेल प्रबंधन की ओर से दो प्रहरियों को सस्पेंड कर दिया गया है. आरोप है कि दोनों ही ड्यूटी के दौरान सो रहे थे.

दरअसल, मुंगेली जिले के देवरी स्थित उपजेल से चार विचाराधीन कैदी के फरार हो गए. घटना के बाद से पुलिस जेल प्रबंधन एवं पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है. फरार हुए चार कैदी जिसमें मुंगेली जिले के तीन और मध्यप्रदेश के रीवा का है. तरुण उर्फ छोटू, धीरज ईदल उर्फ इन्द्रध्वज और सुरेश पटेल हत्या, लूट, बलात्कार एवं नारकोटिक्स जैसे संगीन मामले के विचारधीन कैदी हैं. बताया जा रहा है भागने वाले कैदियों ने पहले बैरक का ताला तोड़ा और उसके बाद फिर गमछे के सहारे दीवार फांदकर भागने में कामयाब हो गए. एसपी चैनदास टंडन ने बताया कि उपजेल प्रबंधन की ओर रात 1 बजकर 30 मिनट पर घटना की सूचना दी गई.

फिलहाल पुलिस जेल जेल प्रबन्धन की सूचना पर मामले की जांच में जुट गई है. वही इस पूरे मामले में उपजेल प्रबंधक जनक लाल पुरैना ने बताया कि बैरक में जिन प्रहरियों की ड्यूटी लगाई थी. वो ड्यूटी के दौरान सो रहे थे. जेल अधीक्षक ने दो प्रहरियों कमल साहू और चेतन साहू को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है.