मिसाल: 21 साल से अस्पताल में हर दिन बांट रहे पौष्टिक आहार, अबतक बांट चुके हैं 200 टन से ज्यादा
X

मिसाल: 21 साल से अस्पताल में हर दिन बांट रहे पौष्टिक आहार, अबतक बांट चुके हैं 200 टन से ज्यादा

जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों को हर दिन सुबह 8 बजे से पोषक तत्वों से बने आहार को बितरित किया जाता है. जिसके लिए सेवाकर्मी सबसे पहले आहार लेकर जिला अस्पताल पहुंचते हैं. जहां सबसे पहले सेवाभावना के लिए एक प्रार्थना की जाती है. 

मिसाल: 21 साल से अस्पताल में हर दिन बांट रहे पौष्टिक आहार, अबतक बांट चुके हैं 200 टन से ज्यादा

इरशाद हिंदुस्तानी/बैतूल: कौन कहता है आसमान में सुराख नही हो सकता, एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारो. कवि नीरज की ये पंक्तिया हमेशा लोगों का हौसला बढ़ाते रही हैं और लोगों को कुछ ऐसा कर गुजरने का हौसला देती रही हैं, जो आम-खास के लिए प्रतीक बन गया. ऐसा ही कुछ कर दिखाया है बैतूल जिले के समाजसेवियों ने. जो हर दिन जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों व उनके परिजनों को पोषक तत्वों से बना अंकुरित आहार वितरित कर रहे हैं. जिसको शुरू हुए आज 21 वर्ष पूरे हो चुके हैं. जिसकी शुरुआत 21 वर्ष पहले समाजसेवियों और कुछ पत्रकारों ने मिलकर की थी.

आज से नए लुक में नजर आएगी शान ए-भोपाल एक्सप्रेस, इस तकनीक से लैस होंगे डिब्बे

हर दिन 400 मरीजों को बांटते हैं पोषक तत्वों से बना आहार
जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों को हर दिन सुबह 8 बजे से पोषक तत्वों से बने आहार को बितरित किया जाता है. जिसके लिए सेवाकर्मी सबसे पहले आहार लेकर जिला अस्पताल पहुंचते हैं. जहां सबसे पहले सेवाभावना के लिए एक प्रार्थना की जाती है. उसके बाद सेवाकर्मी हर वार्ड में जाकर मरीजों और उनके परिजनों को अंकुरित आहार बांटते हैं.

अबतक बांट चुके हैं 200 टन से ज्यादा आहार
जानकारी के मुताबिक सामाजसेवी पिछले 21 वर्षों में अब तक 200 टन से ज्यादा आहार बांट चुके हैं. मरीजों को हर दिन पोषत तत्वों का आहार मिल सके, इसके लिए समाजसेवी शादी की सालगिरह बर्थडे पुण्यतिथि आदि अस्पताल में ही मनाते हैं. वहीं, कुछ लोग अपने परिजनों की पुण्यतिथियों पर 500 रुपए देकर इसमें शामिल होते हैं और मरीजों व उनके परिजनों को पौष्टिक तत्वों से बने आहार को बांटते हैं. 

खुशखबरी: बिना रिजर्वेशन वाली ट्रेनें चलाएगा रेलवे, तुरंत ले सकेंगे टिकट, जानें खासियत

समाजसेवी शायरे ने बताया कि किस दिन मरीजों को क्या बंटेगा. इसका निर्णय सभी समाजसेवियों से बात करके लिया जाता है. वहीं, एक महिला मरीज के परिजन ने बताया कि समाजसेवियों की इस पहल से जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों को नाश्ते के लिए सुबह-सुबह इधर-उधर नहीं जाना पड़ता है. साथ ही उन्हें पौष्टिक आहार भी मिल जाता है. 

ये भी पढ़ें- 

चोरी के वक्त पहुंच गई पुलिस, उल्टे पांव भागे चोर, CCTV में कैद हुआ वाकया

NCC Special Entry 2021: इंडियन आर्मी में कई पदों पर भर्ती, यहां करें अप्लाई @joinindianarmy.nic.in

पनीर खाने से रह सकते हैं इन रोगों से दूर, डॉक्टर भी देते हैं सलाह

गांव के पास अठखेलियां करते दिखे 'वनराज', आप भी देखिए टाइगर का ये मजेदार VIDEO

Watch Live TV- 

Trending news