close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भोपालः खटलापुरा घाट में फिर पलटी नाव, जाते-जाते बची तीन मछुआरों की जान

खटलापुरा घाट में शनिवार की दोपहर तीन लोग बिना लाइफ जैकेट के वोटिंग कर रहे थे और मछलियों को दाना डाल रहे थे, तभी नाव पलट गई और तीनों व्यक्ति डूबने लगे.

भोपालः खटलापुरा घाट में फिर पलटी नाव, जाते-जाते बची तीन मछुआरों की जान
तीनों युवक तालाब में मछली पालने वाले ठेकेदार के कर्मचारी हैं (फाइल फोटो)

भोपालः राजधानी भोपाल के खटलापुरा घाट में बीते शुक्रवार को गणपति विसर्जन के दौरान नाव पलटने से 11 लोगों की मौत के बाद भी प्रशासन की बड़ी चूक सामने आई है, जहां आज फिर एक हादसे में तीन लोगों की जान जाते-जाते बची है. दरअसल, खटलापुरा घाट में शनिवार की दोपहर तीन लोग बिना लाइफ जैकेट के वोटिंग कर रहे थे और मछलियों को दाना डाल रहे थे, तभी नाव पलट गई और तीनों व्यक्ति डूबने लगे, हालांकि तीनों को रेस्क्यू कर बचा लिया गया है, लेकिन इस हादसे के बाद एक बार फिर प्रशासन पर सवाल उठ खड़े हुए हैं. 

बता दें तीनों युवक तालाब में मछली पालने वाले ठेकेदार के कर्मचारी हैं और वह मछलियों को दाना डालने के लिए तालाब में उतरे थे, इसी दौरान नव का संतुलन बिगड़ गया और नाव बीच तालाब पलट गई. मौके पर पहुंचे ASP अखिल पटेल ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि तीनों को उनके साथियों ने तुरंत बाहर निकाल लिया गया है. तीनों मछली ठेकेदार के आदमी हैं, ठेकेदार सहित अन्य लोगों को भी लाइफ जैकेट के साथ तालाब में नाव लेकर जाने की समझाईस दी है. घटना में किसी तरह की कोई जनहानि नहीं हुई है.

देखें लाइव टीवी

PHOTOS: भोपाल में गणेश विसर्जन के दौरान पलटी नाव, 11 की मौत, मजिस्ट्रेट जांच के आदेश

बता दें भोपाल में शुक्रवार को गणपति विसर्जन के दौरान नाव के पलट जाने से 11 लोगों की डूबकर मौत हो गई. यह हादसा राज्य पुलिस मुख्यालय (PHQ) और राज्य आपदा बचाव दल (SDRF) के पास निचली झील के खटलापुरा घाट पर तड़के करीब 4.30 बजे हुआ. मिली जानकारी के मुताबिक विसर्जन के दौरान नाव का संतुलन बिगड़ जाने से नाव पलट गई, जिसमें सवार 18 लोग तालाब में गिर गए. हादसे में 11 लोगों की मौत हो गई, जबकि इनमें से 6 लोग तैरकर तालाब से घाट पर आ गए. सूचना मिलने पर आनन-फानन पुलिस प्रशासन, नगर निगम, होमगार्ड, एसडीईआरएफ और एनडीआरएफ की टीमों ने मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया.