भोपाल लोकसभा क्षेत्र से सांसद आलोक संजर ने खाली किया सरकारी बंगला

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए कांग्रेस ने जहां पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को मैदान में उतारा है, वहीं भाजपा ने उनके मुकबले मालेगांव विस्फोट मामलों की आरोपी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर दांव लगाया है.

भोपाल लोकसभा क्षेत्र से सांसद आलोक संजर ने खाली किया सरकारी बंगला
भोपाल से सांसद आलोक संजर (फोट साभारः facebook)

भोपालः चुनाव हारने के बाद तमाम नोटिसों के बावजूद नेताओं द्वारा सरकारी बंगला खाली नहीं करने के वाकये तो काफी सुनने को मिलते हैं, लेकिन लोकसभा चुनाव में महज टिकट नहीं मिलने के बाद मौजूदा सांसद का सरकारी आवास खाली करना कुछ नया सा है. भोपाल सीट से टिकट कटने के बाद भाजपा के मौजूदा सांसद आलोक संजर ने अपना सरकारी बंगला रविवार को खाली कर दिया और निजी आवास में शिफ्ट हो गए हैं.

शहीद हेमंत करकरे को लेकर दिया गया प्रज्ञा ठाकुर का बयान राजद्रोह: BJP विधायक

2014 में लोकसभा चुनाव जीतकर संसद पहुंचे संजर को भोपाल के स्वामी दयानंद नगर में सरकारी बंगला बी-19 आवंटित किया गया था. संजर ने बताया कि उन्होंने रविवार सरकारी मकान छोड़ दिया और वह अरेरा कॉलोनी क्षेत्र में रेलवे हाउसिंग सोसायटी में स्थित अपने निजी मकान में शिफ्ट हो गये हैं. गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव 2019 के लिए कांग्रेस ने जहां पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को मैदान में उतारा है, वहीं भाजपा ने उनके मुकबले मालेगांव विस्फोट मामलों की आरोपी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर दांव लगाया है.

पिता की राष्ट्रभक्ति और धर्म के प्रति समर्पण से प्रभावित थीं साध्वी प्रज्ञा, जानें कैसे हुई राजनीति में एंट्री

संजर ने बंगला खाली करने के बारे में बताते हुए कहा कि, ''मैंने दो दिन पहले मुझे आवंटित किया गया सरकारी बंगला खाली कर दिया है.'' बता दें आलोक संजर ने लोकसभा चुनाव 2014 में कांग्रेस के उम्मीदवार और वर्तमान में प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा को 3.60 लाख से अधिक मतों से पराजित किया था. (इनपुटः भाषा)