लेफ्टिनेंट अमोघ बापट पंचतत्व में विलीन, हिमाचल प्रदेश में हुए एक हादसे में गई थी जान

किन्नौर हादसे (kinnaur landslide) में मारे गए कोरबा दर्री कॉलोनी निवासी लेफ्टिनेंट अमोघ बापट का आज दर्री मुक्तिधाम में गार्ड ऑफ ऑनर देकर अंतिम संस्कार किया गया. इसके बाद उनका पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलीन हो गया.

लेफ्टिनेंट अमोघ बापट पंचतत्व में विलीन, हिमाचल प्रदेश में हुए एक हादसे में गई थी जान
दर्री मुक्तिधाम में गार्ड ऑफ ऑनर के साथ अंतिम संस्कार हुआ

नीलम पड़वार/कोरबा: किन्नौर हादसे (kinnaur landslide) में मारे गए कोरबा दर्री कॉलोनी निवासी लेफ्टिनेंट अमोघ बापट का आज दर्री मुक्तिधाम में गार्ड ऑफ ऑनर देकर अंतिम संस्कार किया गया. इसके बाद उनका पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलीन हो गया. तय कार्यक्रम के अनुसार लेफ्टिनेंट अमोघ बापट (Lt  Amogh Bapat) का अंतिम संस्कार मंगलवार होना था, लेकिन समय पर पार्थिव शरीर कोरबा नहीं पहुंचने के कारण देरी हुई. जिसके बाद आज उनका अंतिम संस्कार किया गया.

अंतिम दर्शन के लिए उनका पार्थिव शरीर HTPS कॉलोनी स्थित घर में रखा गया था. यहां नौसेना के अधिकारी और जवान सहित कलेक्टर रानू साहू, एसपी भोजराम पटेल, नगर पालिक निगम कोरबा के महापौर, सभापति, ज़िला प्रशासन के आला अधिकारी, जिला पुलिस बल और परिजन सहित आम नागरिकों ने उन्हें श्रद्धांजली दी. इसके बाद दर्री स्थित मुक्तिधाम में उन्हें मुखग्नि दी गयी. 

विपक्ष की आपत्तियों के बीच चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज के अधिग्रहण का रास्ता साफ!

लेफ्टिनेंट के अंतिम संस्कार में शामिल होने आई अंडमान निकोबार में पदस्थ लेफ्टिनेंट शुभांगी ने अमोघ बापट की मौत पर दुख व्यक्त करते उनके बारे में कहा कि वे एक अच्छे इंसान थे, असाधरण व्यक्तित्व वाले और सकारात्मक सोच वाले व्यक्ति थे. वहीं कलेक्टर कोरबा रानू साहू ने भी अमोघ बापट की मौत पर परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना प्रकट की. आपको बता दें कि रविवार 25 जुलाई को हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में भू-स्खलन की प्राकृतिक आपदा में भारतीय नौसेना के लेफ़्टिनेंट अमोघ बापट का दुःखद निधन हो गया था.

WATCH LIVE TV