BJP-कांग्रेस के राजनीतिक कार्यक्रमों पर रोक लगाने की मांग, कोर्ट ने मुख्य सचिव, DM और SP से मांगा जवाब

हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच ने राजनीतिक कार्यक्रमों पर रोक लगाने वाली PIL पर नोटिस जारी कर दिया. कोर्ट ने बीजेपी-कांग्रेस के कार्यक्रमों को लेकर मुख्य सचिव, ग्वालियर कलेक्टर और एसपी को नोटिस जारी किया है.

BJP-कांग्रेस के राजनीतिक कार्यक्रमों पर रोक लगाने की मांग, कोर्ट ने मुख्य सचिव, DM और SP से मांगा जवाब
फाइल फोटो

ग्वालियर: कोरोना काल में मध्य प्रदेश में 28 सीटों पर विधानसभा के उपचुनाव होने जा रहे हैं. जल्द ही इलेक्शन कमीशन चुनाव की तारीखों की घोषणा करेगा. लेकिन हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच ने राजनीतिक कार्यक्रमों पर रोक लगाने वाली PIL पर नोटिस जारी कर दिया. कोर्ट ने बीजेपी-कांग्रेस के कार्यक्रमों को लेकर मुख्य सचिव, ग्वालियर कलेक्टर और एसपी को नोटिस जारी किया है. 

दरअसल हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच में जनहित याचिका दाखिल कर राजनीतिक कार्यक्रमों पर रोक लगाने की मांग की गई है. याचिका में कोरोना का हवाला देकर कार्यक्रमों पर सवाल उठाए थे, पूछा गया था कि कोरोना काल में कार्यक्रम अनुमति कैसे दी गई. अब इस याचिका पर कोर्ट ने कलेक्टर और एसपी  से जवाब मांगा है. 

ये भी पढ़ें: MP को ‘बिकाऊ प्रदेश’ बताने वाले बयान पर भड़के शिवराज, कहा- जनता से माफी मांगें कमलनाथ

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में कोरोना की रफ्तार अब बेकाबू हो गई है. राज्य में शुक्रवार को कोरोना संक्रमितों की संख्या एक लाख का आंकड़ा पार कर गई. आज 2552 नए संक्रमित मिले. इसके साथ ही कोरोना के कुल मामले 1 लाख 558 हो गए.  राजधानी में भी संक्रमण की रफ्तार कम नहीं हो रही है,  यहां पर डबलिंग रेट बढ़ गया है. अब 42 दिन में दोगुने मरीज मिल रहे हैं. 

कोरोना का स्तर अब प्रदेश में भयावह हो चुका है. खासकर भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में, इन शहरों में हर रोज 200 से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं. राज्य में पहले 50 हजार केस 153 दिन में आए थे, जबकि अगले 50 हजार मामले महज 27 दिन में सामने आए हैं.

WATCH LIVE TV: