कोरोना का असर: मध्य प्रदेश में खाली होने के कगार पर ब्लड बैंक

कोरोना वायरस की वजह से इस वर्ष बीते 6 महीनों में राजधानी भोपाल में सिर्फ 50 ब्लड डोनेशन कैंप ही लग पाएं हैं, जबकि पहले इतने दिनों में 600 से करीब ब्लड डोनेशन कैंप लगते थे.

कोरोना का असर: मध्य प्रदेश में खाली होने के कगार पर ब्लड बैंक

भोपाल: कोरोना महामारी की वजह से ब्लड डोनेशन कैंपों के नहीं लगने की वजह से मध्य प्रदेश के सरकारी और प्राइवेट ब्लड बैंकों में खून का स्टॉक खत्म होने को है. अब राजधानी भोपाल में भी ऐसी समस्या खड़ी हो गई है. यहां के ब्लड बैंकों में नेगिटिव ग्रुप सिर्फ 13 यूनिट ही बचा है. जबकि पॉजिटिव ब्लड ग्रुप की संख्या 412 यूनिट है. अगर आने वाले दिनों में ब्लड डोनेशन कैंप ज्यादा से ज्यादा संख्या में नहीं लगें तो स्थिति बिगड़ सकती है.

मेधावी छात्रों को मिलेगा लैपटॉप का पैसा, भारत बंद के समर्थन में उतरे कई संगठन

दरअसल, कोरोना वायरस की वजह से इस वर्ष बीते 6 महीनों में राजधानी भोपाल में सिर्फ 50 ब्लड डोनेशन कैंप ही लग पाएं हैं, जबकि पहले इतने दिनों में 600 से करीब ब्लड डोनेशन कैंप लगते थे. जिसकी वजह से यह समस्या पैदा हुई है. वहीं, ब्लड बैंकों में लगातार हो रही कमी से निपटने के लिए हमीदिया, जेपी और रेडक्रॉस अस्पताल ने मोबाइल यूनिट से पिक एंड ड्रॉप की सुविधा भी शुरू कर दी है.

नौटंकीबाज किसानों के खिलाफ दर्ज होगा 420 का मुकदमा-कृषि मंत्री

एक्सपर्ट्स की मानें तो भोपाल को सामान्य दिनों में जहां हर दिन 70 यूनिट ब्लड की आवश्यकता होती है. कोरोना वायरस के चलते ब्लड की जरूरत में जरूर कमी आई है. लेकिन डोनेशन कैंपों के नहीं लगने से स्टॉक खत्म होने का संकट पैदा हो गया है.

Watch Live TV-