देवी अहिल्या विश्वविद्यालय बना A प्लस पाने वाला मध्य प्रदेश का पहला विश्वविद्यालय

 A+ ग्रेड प्राप्त विश्वविद्यालय अपने यहां स्वीकृत शिक्षकों के पद के 20 प्रतिशत तक पद पर विदेशी शिक्षकों को आमंत्रित कर सकते हैं.

देवी अहिल्या विश्वविद्यालय बना A प्लस पाने वाला मध्य प्रदेश का पहला विश्वविद्यालय
श्वविद्यालय को A+ का दर्जा प्राप्त होने से कई अन्य सुविधाओं की पात्रता प्राप्त हो गई है.

इंदौर: इंदौर का देवी अहिल्या विश्वविद्यालय मध्य प्रदेश का पहला विश्वविद्यालय बन गया है, जिसे राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (NAAC) द्वारा A+ ग्रेड प्रदान किया गया है. आठ सदस्यों की नैक पियर टीम द्वारा विगत 21, 22 एवं 23 नवम्बर को विश्वविद्यालय का दौरा किया गया था. विश्वविद्यालय को नेक के मूल्यांकन में कुल 3,804 अंकों में 3,138 अंक प्राप्त हुए हैं. इस प्रकार लगभग 82 प्रतिशत अंक प्राप्त कर इस विश्वविद्यालय ने A+ ग्रेड का दर्जा हासिल किया है.

विश्वविद्यालय को A+ का दर्जा प्राप्त होने से कई अन्य सुविधाओं की पात्रता प्राप्त हो गई है. अब यह विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के अंतर्गत मान्यता प्राप्त पाठ्यक्रमों को बगैर यूजीसी की अनुमति के प्रारंभ कर सकता है. विश्वविद्यालय को अब ओपन डिस्टेंस लर्निंग (दूरस्थ शिक्षा) पाठ्यक्रम प्रारंभ करने की पात्रता मिल गई है. विश्वविद्यालय A+ ग्रेड प्राप्त करने के बाद वर्ग 2 के ग्रेडेड स्वायत्तता विश्वविद्यालय की श्रेणी में आ गया है. इस श्रेणी में आने वाले विश्वविद्यालयों को रूसा के कम्पोनेन्ट 10 के अंतर्गत 50 करोड़ रूपये के अनुदान की पात्रता स्वतः हो जाती है. इसी के साथ, A+ ग्रेड प्राप्त विश्वविद्यालय अपने यहां स्वीकृत शिक्षकों के पद के 20 प्रतिशत तक पद पर विदेशी शिक्षकों को आमंत्रित कर सकते हैं.