close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हनी ट्रैप मामले में बोले मंत्री गोविंद सिंह - 'हर गलत गतिविधि में शामिल हैं BJP के लोग'

इंदौर के नगर निगम इंजीनियर ने पलासिया थाने में शिकायत की थी कि उन्हें भोपाल की श्वेता जैन नाम की महिला ब्लैकमेल कर रही है और साथ ही 2 करोड़ रुपये की मांग कर रही है. मामले में पुलिस ने क्राइम ब्रांच और ATS की टीम से संपर्क किया और श्वेता जैन की तलाश शुरू की.

हनी ट्रैप मामले में बोले मंत्री गोविंद सिंह - 'हर गलत गतिविधि में शामिल हैं BJP के लोग'

भोपालः राजधानी भोपाल में हनी ट्रैप के खुलासे के बाद प्रदेश की राजनीति में हलचल देखने को मिल रही है, क्योंकि पुलिस ने इस मामले में कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं. जिसके बाद प्रदेश की कांग्रेस सरकार में सामान्य प्रशासन मंत्री गोविंद सिंह ने बीजेपी पर निशाना साधा है. बीजेपी और आरएसएस पर निशाना साधते हुए मंत्री गोविंद सिंह ने कहा कि 'मुझे जो जानकारी मिली है, उसके मुताबिक इस गिरोह की सरगना बीजेपी की महिला कार्यकर्ता है. बीजेपी और आरएसएस के लोग हर गलत गतिविधि में शामिल हैं.' वहीं कांग्रेस का नाम आने पर गोविंद सिंह ने कहा कि, 'मैं चुनौती देता हूं कि मामेल में कांग्रेस का कोई व्यक्ति शामिल नहीं हो सकता. अगर कांग्रेस का कोई शामिल है तो उस पर कठोर से कठोर कार्रवाई की जाएगी. कांग्रेस में गलत लोगों के बचाव की संस्कृति नहीं है, यह बीजेपी की संस्कृति है.'

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से जब इस मामले पर सवाल किया गया तो वह इससे बचते नजर आए. उन्होंने कहा कि, 'मुझे पता ही नहीं काय का हनी मनी. मैं जानता ही नहीं.' वहीं प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने पुलिस को बधाई देते हुए कहा कि, 'कोई ब्लैकमेल करेगा, तो उसको छोड़ा नहीं जाएगा. किसी का भी मामला हो, कोई भी पार्टी का हो, ब्लैकमेल करने वाले छोड़े नहीं जाएंगे.' वहीं आरोपी के कांग्रेस आईटी सेल के कार्यकर्ता होने के सवाल पर पीसी शर्मा ने कहा कि, 'कोई आईटी सेल से नहीं जुड़ा है यह अफवाह है. मैं जिला कांग्रेस का जिला अध्यक्ष रहा हुं. प्रदेश कांग्रेस में भी रहा हुं. कोई कार्यकर्ता इसमें इन्वॉल्व नहीं है.'

देखें वीडियो

बता दें इंदौर के नगर निगम इंजीनियर ने पलासिया थाने में शिकायत की थी कि उन्हें भोपाल की श्वेता जैन नाम की महिला ब्लैकमेल कर रही है और साथ ही 2 करोड़ रुपये की मांग कर रही है. मामले में पुलिस ने क्राइम ब्रांच और ATS की टीम से संपर्क किया और श्वेता जैन की तलाश शुरू की, जिसके बाद भोपाल के रिवेरा टाउन में श्वेता जैन की लोकेशन मिली. जांच के दौरान टीम को दूसरी श्वेता जैन और बरखा भटनागर के इनपुट मिले. भोपाल पुलिस ने प्लान बनाकर एक साथ तीनों युवतियों को गिरफ्तार किया. रात करीब 8 बजे पुलिस ने तीनों युवतियों के ठिकानों पर दबिश दी. पुलिस ने सबसे पहले रिवेरा टाउन से श्वेता जैन को गिरफ्तार किया. तीनों युवतियों को भोपाल पुलिस अशोका गार्डन थाने लेकर आई, जहां थोड़ी देर पूछताछ के बाद पुलिस गोविंदपुरा थाने रवाना हो गई.

कमलनाथ के मंत्री का पूर्व CM पर विवादित बयान, बोले- 'माफी मांग लें शिवराज तो बंद हो जाएगी बारिश'

भोपाल पुलिस ने रात में करीब 3 घंटे तक पूछताछ की. देर रात करीब 1 बजे ATS की टीम इंदौर से भोपाल पहुंची. ATS की टीम ने दोनों श्वेता जैन और बरखा भटनागर से सवाल किए. पूछताछ के बाद ATS की टीम रात करीब 3:40 पर इंदौर रवाना हो गई और दोनों श्वेता जैनऔर बरखा भटनागर को भी साथ ले गई. ATS की टीम सुबह करीब 5:50 पर इंदौर के महिला थाने पहुंची, जहां 6 बजे से इन्वेस्टिगेशन टीम ने फिर शुरू की पूछताछ. तीनों युवतियों ने 2 और लड़कियों के नाम बताए, जिसके बाद पुलिस ने इंदौर से करीब 6:45 पर सीमा और आरती को गिरफ्तार किया. आरती के पास से पुलिस ने एक लग्जरी कार भी बरामद की. फिलाहाल, पांचों युवतियों को इंदौर के महिला थाने में रखा गया है. जहां ATS, क्राइम ब्रांच और पुलिस की ज्वॉइंट टीम इनसे पूछताछ कर रही है.