नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन मामला: मोखा की पत्नी-असिस्टेंट गिरफ्तार, बेटे की तलाश में SIT

नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन मामला में मोखा की पत्नी जसमीत और असिस्टेंट सोनिया देर रात गिरफ्तार किया गया है. वहीं हरकरण मोखा की तलाश में कई स्थानों पर पुलिस दबिश दे रही है.

नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन मामला: मोखा की पत्नी-असिस्टेंट गिरफ्तार, बेटे की तलाश में SIT
पत्नी जसमीत के साथ सरबजीत मोखा(L), बेटा हरकरण मोखा (R)

कर्ण मिश्रा/जबलपुर: नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन मामले में जैसे-जैसे जांच गहराती जा रही है, वैसे वैसे पुलिस का शिकंजा भी कसता जा रहा है. मामले से जुड़ी हुई एक अहम और बड़ी खबर जबलपुर से आई है. जहां ओमती थाना पुलिस ने सिटी अस्पताल के संचालक और मामले के मुख्य आरोपी सरबजीत सिंह मोखा की पत्नी जसमीत मोखा और अस्पताल की मैनेजर सोनिया खत्री शुक्ला को देर रात गिरफ्तार कर लिया है.

दोनों पर मामले की जांच में सहयोग न करने और साक्ष्य छुपाने का आरोप है. पुलिस लगातर बीते कई दिनों से घर के लोगों से मामले की जानकारी ले रही थी, लेकिन जांच में सहयोग न करने और कई अहम साक्ष्यों को छुपाने पर पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार किया है. 

मोखा के बेटे की तलाश हुई तेज
इधर, मोखा के बड़े बेटे हरकरण मोखा की तालाश में पुलिस कई स्थानों पर दबिश दे रही है. आपको बता दें कि हरकरण मोखा पर इस काले खेल में नकली आईडी का उपयोग करने का आरोप है. इसी फेक आईडी के जरिए उसने रेमडेसिविर इंजेक्शन मंगवाए थे. लिहाजा अब मोखा परिवार के तीन लोग पुलिस की जांच का हिस्सा बन गए है.

जबलपुर नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन मामला: फेक ID से मोखा के बेटे ने मंगाई थी इंजेक्शन

एक और धारा जोड़ी गई
वहीं मामले में अभी तक जिन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था, उसमें धारा 201 भी बढ़ा दी गई हैं. स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) प्रभारी व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रोहित कशवानी ने बताया है कि इस प्रकरण में किसी भी तरह की ढिलाई नहीं की जा रही है, आरोपी मोखा से जुड़े सभी लोगों से पूछताछ जारी है. पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही है. आरोपियों के खिलाफ केस पुख्ता हो इस उद्देश्य को लेकर एसआईटी की टीम लगातार कई स्थानों पर दबिश के साथ साक्ष्य इकठ्ठा कर रही है.

अब तक इतने लोग हो चुके हैं गिरफ्तार
गौरतलब है कि पुलिस ने अस्पताल से एक सूची प्राप्त की है जिसमें 460 मरीजों के नाम सामने आए जो मोखा के सिटी अस्पताल में भर्ती थे. पुलिस इन मरीजों के परिजनों से भी पूछताछ करने उनके घर पहुंच रही है. वहीं अभी तक जबलपुर पुलिस मामले में जहां सरबजीत सिंह मोखा और अस्पताल के दवाओं के मैनेजर देवेश चौरसिया को गिरफ्तार कर NSA की कार्यवाही की है. वहीं अब मोखा की पत्नी और हॉस्पिटल मैनेजर को भी गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने उम्मीद जताई है कि मामले में जल्द और भी गिरफ्तारी हो सकती है.

5 लोगों को NSA के 6 महीने की सजा
रेमडेसिविर इंजेक्शन सहित जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाज़ारी करने वालों पर लगातार सख्त कार्रवाई देखने को मिल रही है. कालाबाज़ारी करने 5 लोगों के खिलाफ रासुका यानी की NSA के तहत 6 महीने के लिए जेल की सजा सुनाई गई है.

WATCH LIVE TV