खाद बिक्री फॉर्म्यूले में हुए बदलाव को कमलनाथ ने बताया किसान विरोधी, सरकार से की ये मांग

कमलनाथ ने कहा कि इससे खाद की कालाबाजारी बढ़ेगी और किसानों को खाद संकट का भी सामना करना पड़ेगा.

खाद बिक्री फॉर्म्यूले में हुए बदलाव को कमलनाथ ने बताया किसान विरोधी, सरकार से की ये मांग
फाइल फोटो.

भोपाल: पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamal Nath) ने प्रदेश में खाद बिक्री फॉर्म्यूले में हुए बदलाव को किसान विरोधी बताया है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने यह फैसला बीजेपी समर्थित व्यापारियों को फायदा पहुंचाने के लिए लिया है. उन्होंने कहा कि इससे खाद की कालाबाजारी बढ़ेगी और किसानों को खाद संकट का भी सामना करना पड़ेगा.

पूर्व सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा, ''हमने हमारी सरकार में किसानों के हित में फ़ैसला लेते हुए उन्हें सहजता से खाद उपलब्ध कराने के लिये, 80% खाद सहकारी समितियों के माध्यम से व 20% निजी क्षेत्र के माध्यम से बेचने का प्रावधान किया था.'' उन्होंने कहा कि हमें जानकारी मिली है कि शिवराज सरकार ने इस फ़ार्मूले को बदलते हुए इसे 55% सहकारी समितियों के माध्यम से व 45% निजी क्षेत्रों के माध्यम से बिक्री का प्रावधान किया है.

पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस इस फैसले का विरोध  करती है और राज्य सरकार से मांग करती है किसान हित में पुरानी व्यवस्था को लागू रहने दिया जाए.

Watch Live TV-