झाबुआ कृषि विज्ञान केंद्र की मांग, IIFA अवॉर्ड में परोसा जाए कड़कनाथ मुर्गा, दाल-पानिया

हवाला दिया गया कि आईफा अवॉर्ड में आने वाले फिल्मी सितारों को खिलाया जाएगा तो इससे आदिवासियों के लिए रोजगार के नए अवसर खुल सकते हैं. 

झाबुआ कृषि विज्ञान केंद्र की मांग, IIFA अवॉर्ड में परोसा जाए कड़कनाथ मुर्गा, दाल-पानिया

सचिन जोशी/झाबुआ: इंदौर में होने वाले IIFA अवॉर्ड में आने वाले सितारों को मध्य प्रदेश का प्रसिद्ध कड़कनाथ मुर्गा खिलाया जा सकता है. झाबुआ स्थित कृषि विज्ञान केंद्र के प्रमुख डॉ. आईएस तोमर ने इस संबंध में मुख्यमंत्री कमलनाथ और पर्यटनमंत्री सुरेंद्र सिंह बघेल को एक पत्र लिया है. इसमें मेहमानों को कड़कनाथ मुर्गा और दाल-पानिया भोजन में परोसने का आग्रह किया गया है. हवाला दिया गया है कि इससे इनकी ब्रांडिंग होगी और लोगों का जीवन स्तर सुधरेगा.

डॉ. तोमर ने अपना यह पत्र उन्हें ट्वीट भी किया है. लिखा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आईफा अवार्ड को मध्य प्रदेश के आदिवासियों को समर्पित किया है. झाबुआ के आदिवासी अंचल में पाए जाने वाले कड़कनाथ मुर्गे में कम मात्रा में फैट होता है और ये प्रोटीन-आयरन से भरपूर होता है. अगर आईफा अवॉर्ड में आने वाले फिल्मी सितारों को खिलाया जाएगा तो इससे आदिवासियों के लिए रोजगार के नए अवसर खुल सकते हैं. अगर ऐसा होता है तो कड़कनाथ और दाल-पानिये का स्वाद और खूबी पहुंचने से इसे वैश्विक पहचान और मध्य प्रदेश की भी ब्रांडिंग होगी. उन्होंने यह भी कहा कि अगर हमारे सुझाव पर अमल होता है तो वे इनका ज़ायका मेहमानों तक पहुंचाने के लिए अपनी तैयारी कर लेंगे.  

आपको बता दें कि इससे पहले भी केंद्र ने भारतीय क्रिकेट टीम को कड़कनाथ मुर्गा खाने की सलाह दी थी. साल 2017 में राज्य सरकार ने कड़कनाथ एप लांच किया और इसी साल ही कड़कनाथ को झाबुआ का जीआई टैग मिला था.