close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रतलाम के किसानों पर 'बारिश की मार' के बाद 'बिजली' का संकट!

रतलामः मध्य प्रदेश के रतलाम के जैतपुरा और अमलेटी गांव के लोग इन दिनों दोहरी मार झेल रहे हैं. पहले तो बारिश के चलते उनकी पूरी फसल बर्बाद हो गई अब उनपर बिजली का संकट खड़ा हो गया है. हालात ये हैं कि दोनों गांव अंधेरे में डूबे हुए हैं. दरअसल, बिजली विभाग ने दोनों गांव की बिजली काट दी है. वजह है बिजली का बकाया बिल. जिसके चलते अब ग्रामीणों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है.

रतलाम के किसानों पर 'बारिश की मार' के बाद 'बिजली' का संकट!
(सांकेतिक तस्वीर)

रतलामः मध्य प्रदेश के रतलाम के जैतपुरा और अमलेटी गांव के लोग इन दिनों दोहरी मार झेल रहे हैं. पहले तो बारिश के चलते उनकी पूरी फसल बर्बाद हो गई अब उनपर बिजली का संकट खड़ा हो गया है. हालात ये हैं कि दोनों गांव अंधेरे में डूबे हुए हैं. दरअसल, बिजली विभाग ने दोनों गांव की बिजली काट दी है. वजह है बिजली का बकाया बिल. जिसके चलते अब ग्रामीणों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है.

बताया जा रहा है कि ज्यादा बारिश की वजह से किसानों की सोयाबीन की फसल चौपट हो गई है. ना तो अभी तक उन्हें फसल का मुआवजा मिला है और ना ही कोई सरकारी मदद. यही वजह है कि किसान अपने घरों का बिल जमा नहीं कर पाए हैं, लेकिन किसानों के मुसीबत के दिनों में बिजली विभाग ने अतिरिक्त मुस्तैदी दिखाई और उनके घरों के कनेक्शन काट दिए. 

देखें LIVE TV

MP: ऊर्जा मंत्री के प्रेस कॉन्फ्रेंस में हुआ पावर कट, शिवराज सिंह बोले- हो गई बत्ती गुल

हालांकि किसानों के ये बिल बहुत ज्यादा नहीं हैं. बताया जा रहा है कि ज्यादातर किसानों के बिल 100 से 200 रुपये के ही हैं, इसके बावजूद उनकी बिजली काट दी गई है. ऐसे में अब किसान काफी परेशान हैं. किसानों की मानें तो अभी तक उन्हें सरकार की तरफ से खराब हुई फसल का मुआवजा नहीं मिला है और न ही सरकार का कोई नुमाइंदा उनसे मिलने पहुंचा है. वह कई बार अपनी समस्याएं प्रशासन के सामने रख चुके हैं, लेकिन उनकी कोई सुनने को तैयार नहीं है.