मध्य प्रदेश में शराब की दुकान खोलने पर संशय, आज शाम तक पता चलेगा खुलेंगी या रहेंगी बंद

शराब कारोबारियों के दबाव के चलते अब तक आबकारी विभाग स्पष्ट नहीं कर पाया है कि दुकानें कहां खुलेंगी और कहां नहीं. इस पर आज शाम तक फैसला आ जाएगा.

मध्य प्रदेश में शराब की दुकान खोलने पर संशय, आज शाम तक पता चलेगा खुलेंगी या रहेंगी बंद

भोपाल: मध्य प्रदेश में शराब की दुकान खोलने पर अभी भी संशय बरकार है. शराब ठेकेदारों और सरकार के बीच अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि ठेके खोले जाएं. हालांकि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कल जनता से संदेश में साफ कर चुके हैं रेड जोन वाले 9 जिलों में केवल अति आवश्यक सेवाओं की दुकाने ही खुलेंगी. इसका सीधा-सा मतलब है कि यहां शराब की दुकानें नही खुलेंगी. आज शाम ये साफ हो पाएगा कि ठेके खुलेंगे या नहीं.

शराब कारोबारियों के दबाव के चलते अब तक आबकारी महकमा स्पष्ट नहीं कर पाया है कि दुकानें कहां खुलेंगी और कहां नहीं. कारोबारियों का कहना है जब भारत सरकार ने रेड जोन में दुकानें खोलने की अनुमति दी है तो राज्य सरकार क्यों नहीं इसका पालन कर रही. उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग सहित COVID-19 के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए दुकान संचालन की बात कही. अब इस पूरे मामले में वाणिज्यकर विभाग के अपर मुख्य सचिव आईसीपी केशरी मुख्यमंत्री से चर्चा करेंगे. आज देर शाम तक स्थिति स्पस्ट होगी कि शराब की दुकान कहां और कितने बजे से खुलेंगी. 

छत्तीसगढ़ में आज से खुलेंगी शराब की दुकानें, होम डिलीवरी भी लेकिन पब्लिक ट्रांसपोर्ट रहेगा पूरी तरह बंद

ये है प्रस्ताव
वाणिज्यकर विभाग ने एक प्रस्ताव तैयार किया है जिसमें भोपाल, इंदौर और उज्जैन जिले में एक भी दुकान नहीं नहीं खोलने की बात कही जा रही है. बाकी रेड जोन के 6 जिलों में शहरों में प्रतिबन्ध रखा जाए. जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में दुकानें खोलने पर विचार करने को कहा गया है.

तो क्या ये डर सता है रहा सरकार
दूसरे राज्यों में शराब की दुकानें खुलते ही भीड़ लगनी शुरू हो गयी. इसी स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री शराब की दुकानों को 17 मई तक बंद रखने को लेकर सख्त निर्णय ले सकते हैं.