प्यारे मियां केस: बालिका गृह में जिस नाबालिग ने खाई थीं नींद की गोलियां, इलाज के दौरान हुई मौत

नाबालिग ने 3 दिन पहले ढेर सारी गोलियां खाकर खुद को खत्म करने का प्रयास किया था. जिसके बाद उस भोपाल के हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था. हालत गंभीर होने के कारण उसे वेंटिलेटर पर रखा गया था, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

प्यारे मियां केस: बालिका गृह में जिस नाबालिग ने खाई थीं नींद की गोलियां, इलाज के दौरान हुई मौत
प्यारे मियां

भोपाल: प्यारे मियां केस में यौन शोषण की शिकार नाबालिग की मौत हो चुकी है. मृतका पिछले 5 महीने से बालिका गृह में रह रही थी. उसने 3 दिन पहले ढेर सारी गोलियां खाकर खुद को खत्म करने का प्रयास किया था. जिसके बाद उस भोपाल के हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था. हालत गंभीर होने के कारण उसे वेंटिलेटर पर रखा गया था, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

ये भी पढ़ें-एक गांव जिसने आज तक खादी को अपनाए रखा, यहां खादी ही पहनते हैं बुजुर्ग

मृतका को को कहां से मिली नींद की गोलियां
मृतका ने नींद की गोलियां क्यों खाई थी इसका कारण 3 दिन बाद भी साफ नहीं हो पाया है. बालिका गृह प्रबंधन पर सवाल खड़े होने लगे हैं, कि नाबालिग तक इतनी बड़ी संख्या में नींद की गोलियां कैसे पहुंचीं. घटना के तीन दिन बीत जाने के बाद भी जिला महिला बाल विकास अधिकारी और जिला प्रशासन यह पता नहीं लगा पाया है.

ये भी पढ़ें-CM और पूर्व CM के पड़ोसी हुए सिंधिया, भोपाल में मिला ठिकाना

आपको बता दें कि ये नाबालिग प्यारे मियां केस में बालिका गृह में रखी गईं नाबालिगों में से एक थी. प्यारे मिया जेल में बंद है और उसके खिलाफ कई अपराध के मामले दर्ज हैं. जिनमें से एक नाबालिग बच्चियों से योन शोषण भी है.पॉक्सो कोर्ट में केस चलने की वजह से ही नाबालिग बच्चियों को काफी समय से बालिका गृह में रखा गया था. जहां लड़कियां कई दिनों से अपने घर जाने की जिद कर रही थीं. 

Watch LIVE TV-