close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मॉब लिंचिंग: 'बच्चा चोर' होने के शक में मानसिक विक्षिप्त महिला की पीट-पीटकर हत्या

महिला की हत्या करने के मामले में सोमवार को 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

मॉब लिंचिंग: 'बच्चा चोर' होने के शक में मानसिक विक्षिप्त महिला की पीट-पीटकर हत्या
कुछ लोगों ने महिला को गांव में घूमते हुए देखा और बच्चा चोर होने के संदेह में उसे रोका था.(फाइल फोटो)

सिंगरौली: मध्यप्रदेश में सिंगरौली जिले के मोरवा पुलिस थानांतर्गत भीड़ ने बच्चा चोर होने के शक में एक अज्ञात महिला की कथित तौर पर पीट-पीटकर हत्या कर दी और बाद में उसके शव को नाले में फेंक दिया. मोरवा के पुलिस अनुविभागीय अधिकारी केएस द्विवेदी ने बताया कि महिला की 19 जुलाई की रात पीट-पीटकर हत्या करने के मामले में सोमवार को 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया और उन्हें आज स्थानीय अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है. उन्होंने कहा कि जिस महिला की पीट-पीटकर हत्या की गई, उसकी अब तक पहचान नहीं हो पाई है. लगता है कि उसकी उम्र 25 से 30 वर्ष के बीच रही होगी. उसके कपड़ों एवं चेहरे को देखने से लगता है कि वह मानसिक तौर पर विक्षिप्त रही होगी.

पुलिस ने मामले में किया 12 लोगों को गिरफ्तार  
पुलिस ने बताया कि कुछ लोगों ने इस महिला को 19 जुलाई की रात करीब साढ़े नौ बजे भोश गांव में घूमते हुए देखा और बच्चा चोर होने के संदेह में उसे रोका. इसके बाद उन्होंने उससे सवाल पूछे और बच्चा चोर होने के शक में उस पर लाठियों एवं कुल्हाड़ियों से हमला कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई. उन्होंने बताया कि महिला की हत्या करने के बाद आरोपियों ने उसके शव को सिंगरौली जिला मुख्यालय से करीब 90 किलोमीटर दूर भोश के जंगल स्थित नाले में फेंक दिया. पुलिस के अनुसार, अगली सुबह (20 जुलाई) को लोगों ने इस महिला को मृत पाया और पुलिस को इसकी जानकारी दी. केएस द्विवेदी ने कहा कि जांच के बाद पुलिस ने 12 लोगों को गिरफ्तार किया और उनके खिलाफ हत्या एवं दंगा फैलाने सहित IPC की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया है.

अफवाह फैलाने पर पत्रकार पर हो चुका है मामला दर्ज 
द्विवेदी ने बताया कि मृतका की पहचान करने का प्रयास किया जा रहा है और विस्तृत जांच जारी है. उन्होंने कहा कि पिछले एक महीने से अधिक समय से व्हाट्सएप पर अफवाह फैली है कि इलाके में बच्चा चोर सक्रिय हैं. व्हाट्सएप पर यह अफवाह फैलाने के लिए पुलिस ने एक पत्रकार के खिलाफ भी हाल ही में मामला दर्ज किया है. इसी अफवाह के चलते भीड़ ने इस महिला को बच्चा चोर समझकर पीट-पीटकर हत्या कर दी.

(इनपुट भाषा से)