चोरी का गजब तरीका! बैंक को पता भी नहीं चला और लगा दिया लाखों का चूना, इस एक ट्रिक से कर देते थे ATM खाली
X

चोरी का गजब तरीका! बैंक को पता भी नहीं चला और लगा दिया लाखों का चूना, इस एक ट्रिक से कर देते थे ATM खाली

ATM कार्डधारक जैसे ही बैंक में टेक्निकल एरर की शिकायत करता, उसके बैंक खाते में रुपये रिफंड कर दिए जाते.

चोरी का गजब तरीका! बैंक को पता भी नहीं चला और लगा दिया लाखों का चूना, इस एक ट्रिक से कर देते थे ATM खाली

प्रदीप शर्मा/भिंडः मध्य प्रदेश के भिंड जिले में ATM मशीन से चोरी का अनोखा मामला सामने आया. यहां कुछ शातिर चोरों ने मशीन के टेक्निकल एरर का फायदा उठाकर एक ही महीने में करीब 18 लाख रुपये की चोरी कर डाली. चोरी में एक बात यह भी रही कि आरोपियों ने किसी भी खाताधारक को निशाना बनाने के बजाय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया को ही निशाना बनाया. मामले की जानकारी पुलिस को लगते ही उन्होंने छानबीन की और जाल बिछाकर आरोपी को गिफ्तार कर लिया. 

पूरी प्लानिंग से करते थे चोरी
भिंड के शातिर चोरों ने SBI की ATM मशीन में बड़े ही सरल तरीके से चोरी को अंजाम दिया. भिंड ASP ने बताया कि ठग अपने किसी रिश्तेदार या पहचान के शख्स का ATM और पासवर्ड लेता. उससे वह पैसे निकालने की प्रोसेस पूरी करते. जैसे ही मशीन पेमेंट के लिए शटर ओपन कर कैश ट्रे बाहर करती, ठग शटर पर उंगली रख देते और कैश बाहर निकाल लेते थे. 

यह भी पढ़ेंः- बीमार बहन की मदद के लिए गई नाबालिग से गैंगरेप, चंदा मांगने के बाहने बनाया शिकार

ATM मान लेता था टेक्निकल एरर
ऐसा करने के 25 सेकंड बाद तक शटर ओपन रहता, जिसे SBI ATM टेक्निकल एरर मान लेता और ट्रांजेक्शन फेल हो जाती. इसी तरह ये लोग अलग-अलग कैश लिमिट वाले ATM कार्ड के जरिए कई बार रुपये निकाल कर ATM मशीनों को खाली करते चले गए. यहां तक कि ATM कार्डधारक जैसे ही बैंक में टेक्निकल एरर की शिकायत करता, उसके बैंक खाते में रुपये रिफंड कर दिए जाते. 

एक माह में गायब किए लाखों
अक्सर ATM कार्ड बदलकर या OTP के माध्यम से ठगी के मामले सामने आते रहते थे, लेकिन इन शातिर चोरों ने बैंक को ही निशाना बनाकर एक ही महीने के अंदर 17-18 लाख रुपये का गबन कर दिया. मामले का खुलासा तब हुआ, जब तेजी से ATM मशीनों के खाली होने की जानकारी लगी. कैश जमा करने वाली कंपनी ने इस बात की शिकायत बैंक और लहार थाना पुलिस में कर दी. ॉ

यह भी पढ़ेंः- मध्य प्रदेश के राजगढ़ में भीषण सड़क हादसा, 5 लोगों की मौत, अंतिम संस्कार में शामिल होने जा रहा था परिवार

इस तरह हुआ चोरी का खुलासा
भिंड एएसपी कमलेश कुमार खरपुसे ने बताया कि ये मामला अपने आप में अनोखा था. फाइनेंसियल सिस्टम और सॉफ्टवेयर कंपनी के टेरेट्री मैनेजर दिव्य कुमार ने इस बात की शिकायत की. पुलिस ने CCTV फुटेज खंगाले, जिसमें एक व्यक्ति द्वारा ATM कार्ड के जरिए मशीन से बार-बार पैसे आहरण करने का मामला सामने आया. जिससे उसकी संदिग्ध हरकतों की पहचान की गई. 

पुलिस की सतर्कता से पकड़ा गया ठग
आरोपी की पहचान होते ही पुलिस ने ATM बूथ के आसपास मॉनिटरिंग करना शुरू किया. और ATM मशीन पर तैनात गार्ड को भी इस बारे में सूचित कर दिया. संदिग्ध जैसे ही एटीएम पहुंचकर पैसे निकालने लगा, गार्ड ने इस बात की सूचना पुलिस को दे दी. गार्ड की सूचना पर लहार पुलिस मौके पर पहुंची और उन्होंने आरोपी को धर दबोचा. 

शुरुआती जांच और पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसने करीब 17-18 लाख रुपये का बैंक फ्रॉड किया. पुलिस द्वारा इस राशि को वेरिफाई किया जा रहा है. वहीं पुलिस की पूछताछ में गिरोह के कुछ अन्य सदस्यों द्वारा भी इस तरह की ठगी की वारदात की बात सामने आई. एएसपी ने बताया कि सभी तथ्यों के आधार पर पुलिस अन्य आरोपियों की तलाश में जुट गई है.

यह भी पढ़ेंः- दिन दहाड़े चलती गाड़ी में लूटः ड्राइवर की आंखों में फेंकी मिर्च, मारपीट कर लूट ले गए साढ़े 3 लाख

WATCH LIVE TV

Trending news