मप्र में दिखी नई परंपरा! स्वाधीनता दिवस की पूर्व संध्या पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने दिया 'जन संदेश'

पूर्व सीएम ने अपनी सरकार के काम गिनवाए, संविधान से छेड़छाड़ के आरोप लगाए...

मप्र में दिखी नई परंपरा! स्वाधीनता दिवस की पूर्व संध्या पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने दिया 'जन संदेश'
मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ. (File Photo)

भोपाल: मप्र के पूर्व सीएम और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने एक नई परंपरा की शुरुआत करते हुए स्वाधीनता दिवस की पूर्व संध्या पर प्रदेश की जनता के नाम संदेश प्रसारित किया. यह प्रसारण कांग्रेस के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिये हुआ. अपने संदेश में कमलनाथ ने जहां, संविधान से छेड़छाड़ आरोप लगाया वहीं, अपनी 15 महीने की सरकार के बड़े फैसलों को भी गिनवाया. जानिए, क्या हैं कमलनाथ के संदेश की खास बातें…

संविधान से छेड़छाड़ की बात कही
कमलनाथ ने इशारों ही इशारोें में भाजपा पर संविधान से छेड़छाड़ का आरोप लगाया. उन्होेंने कहा कि महात्मा गांधी के नेतृत्व में देश आजाद हुआ. प्रजातंत्र के ढांचे में संविधान बना. बाबा साहब अंबेडकर ने जब संविधान बनाया तो उन्होंने नैतिक एवं सैद्धांतिक राजनीति के प्रावधान रखे थे. आज संविधान कितने खतरे में हैं यह तस्वीर आपके सामने है.

माफिया-मिलावटखोर के खिलाफ अभियान का श्रेय लिया
माफिया और मिलावटखोरों को मध्यप्रदेश की पहचान बताकर उनके खिलाफ अभियान चलाने का श्रेय लिया। मध्यप्रदेश की एक नयी पहचान और प्रोफाइल बनाने के प्रयास की बात भी कही.

लाखों किसानों का कर्जा माफ किया
किसान फसल कर्ज माफ़ी योजना को दो चरणों में बनाकर पहले ही चरण में सत्ताइस लाख किसानों का बारह हजार करोड़ रुपये का कर्जा माफ़ करने की बात कही. एक जून से शुरू होने वाले तीसरे चरण में लगभग पांच लाख किसानों का कर्ज माफ़ करने का प्रावधान को जनता के सामने रखा. सौ रुपये में सौ यूनिट बिजली देने के निर्णय और किसानों को सिंचाई पंप लगाने और बिजली कनेक्शन की राशि घटाने के तथ्य रखे.

CM शिवराज के बाद मंत्री तुलसी सिलावट ने जीती कोरोना से जंग, स्वास्थ्यकर्मियों का जताया आभार

सबसे ज्यादा गौशालाओं की उपलब्धि बताई
गौमाता के संरक्षण और सुरक्षा की जरूरत पर गौशाला के निर्माण की शुरुआत. देश भर में सबसे ज्यादा गौशाला मध्यप्रदेश में बनाने की  अपनी सरकार की उपलब्धि बताई.

कर्मचारियों के डीए बढ़ाने की बात कही
सरकारी कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ता बढ़ाने, स्वास्थ्य बीमा जैसे उनके हित के फैसले करने का श्रेय लिया।

अध्यात्म विभाग बनाया, नदियों के संरक्षण का अभियान चलाया
अध्यात्म विभाग बनाने और राम-वन-गमन-पथ की योजना राशि स्वीकृत करने के साथ-साथ उज्जैन के बाबा महाकाल मंदिर, ओंकारेश्वर मंदिर के विकास के साथ-साथ पवित्र नर्मदा और शिप्रा नदी के संरक्षण का अभियान प्रारंभ करने की बात कही.

निवेश के लिए भरोसा जगाने का दावा किया
प्रदेश में निवेश के लिए भरोसा पैदा करने उपलब्धि गिनवाई. इससे प्रदेश के नौजवानों को रोजगार और आर्थिक गतिविधि में तेजी आने का दावा किया.

मां-बाप की मृत्यु के बाद थर्ड जेंडर का भी होगा सरकारी नौकरी पर हक, बघेल सरकार का फैसला

कोरोना वॉरियर्स को सैल्यूट किया
पिछले कुछ महीनों से कोरोना महामारी का सामना कर रहे लोगों के लिए काम कर रहे कोरोना वॉरियर्स को सैल्यूट किया.

फिर जनता से अपील कर दी, आप दीजिए सच्चाई का साथ...
कमलनाथ ने अपने संदेश में जनता से अपील की, कि मेरी सरकार के बहुत से काम और योजनाओं में से बहुत से अधूरे हैं मैंने एक नया मध्यप्रदेश बनाने का संकल्प लिया है. हर साल 15 अगस्त  हम सभी के लिये एक नयी प्रेरणा और चुनौती लेकर आता है. हमें इस बार लोकतंत्र और संविधान को मजबूत बनाने के लिये एकजुट होकर आगे आना होगा. आज प्रदेश की तस्वीर आपके सामने है आज के दिन हम संकल्प लें हम सच्चाई को पहचानते हुए सच्चाई का साथ दें.

WATCH LIVE TV