MP के दमोह जिले को शिक्षा क्षेत्र में बेहतरीन काम के लिए NITI AAYOG ने पूरे देश में दिया पहला स्थान

नीति आयोग के मुताबिक दमोह जिला इस साल जून तक शिक्षा क्षेत्र में किए गए कार्यों के आधार पर देश में पहले स्थान पर रहा है. दमोह कलेक्टर तरुण राठी ने इस उपलब्धि के लिए जिले के सभी शिक्षकों को शुभकामनाएं दी हैं.

MP के दमोह जिले को शिक्षा क्षेत्र में बेहतरीन काम के लिए NITI AAYOG ने पूरे देश में दिया पहला स्थान
सांकेतिक तस्वीर.

दमोह: नीति आयोग (NITI Aayog) की रैंकिंग में मध्य प्रदेश के दमोह जिले को शिक्षा के क्षेत्र में नवाचार के लिए पूरे देश में पहला स्थान हासिल हुआ है. नीति आयोग (National Institution for Transforming India) के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस संबंध में ट्वीट किया गया है. नीति आयोग के मुताबिक दमोह जिला इस साल जून तक शिक्षा क्षेत्र में किए गए कार्यों के आधार पर देश में पहले स्थान पर रहा है. दमोह कलेक्टर तरुण राठी ने इस उपलब्धि के लिए जिले के सभी शिक्षकों को शुभकामनाएं दी हैं.

आपको बता दें कि नीति आयोग ने मध्य प्रदेश के दमोह जिले को बीते वर्ष देश के सबसे पिछड़े जिलों में शामिल किया था. केंद्र सरकार के आकांक्षापूर्ण जिला कार्यक्रम ( Aspirational Districts Programme) में दमोह भी शामिल है. देश के अलग-अलग राज्यों से करीब 100 से अधिक जिलों को आकांक्षापूर्ण जिला कार्यक्रम के अंतर्गत शामिल किया गया है. नीति आयोग इन सभी जिलों में विकास के विभिन्न आयामों पर काम करता है.

MP में रेत माफियाओं के हौसले बुलंद, CM के गृह जिले में कांस्टेबल पर चढ़ाई ट्रैक्टर-ट्राली

मध्य प्रदेश के दमोह जिले के लिए भी नीति आयोग ने सभी क्षेत्रों में विकास का खाका तैयार किया है. दमोह में शिक्षा, स्वास्थ्य, आमजन के लिए विभिन्न सुविधाएओं के विकास सहित कई अन्य विषयों पर योजनाएं चल रही हैं. आकांक्षापूर्ण जिला कार्यक्रम के अंतर्गत शिक्षा के क्षेत्र में किए गए कार्यों के लिए दमोह को नीति आयोग की रैंकिंग में देश में पहला स्थान हासिल हुआ है. दमोह में 'Bolo App' के जरिए बच्चों को पढ़ाया जा रहा है. इसके साथ ही जिले में कई सरकारी स्कूलों का नए तरीके से निर्माण हुआ है.

WATCH LIVE TV