प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'काशी-महाकाल एक्सप्रेस' को दिखाई हरी झंडी, इस ट्रेन के बारे में जानें सबकुछ

यह ट्रेन तीन ज्योर्तिलिगों वाराणसी में काशी विश्वनाथ, उज्जैन में महाकालेश्वर और इंदौर के पास ओंकारेश्वर को जोड़ेगी. इस ट्रेन का वाराणसी से इंदौर के बीच किराया 1951 रुपये रखा गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'काशी-महाकाल एक्सप्रेस' को दिखाई हरी झंडी, इस ट्रेन के बारे में जानें सबकुछ
पीएम मोदी ने काशी महाकाल एक्सप्रेस को वाराणसी से दिखाई हरी झंडी.

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की तीसरी प्राइवेट ट्रेन 'काशी-महाकाल एक्सप्रेस' को आज वाराणसी से हरी झंडी दिखाई. आगामी 20 फरवरी से आम नागरिक इस ट्रेन की सवारी कर सकेंगे. तेजस ट्रेन की तरह ही इस ट्रेन का संचालन भी आईआरसीटीसी करेगा. काशी-महाकाल एक्सप्रेस वाराणसी से इंदौर वाया उज्जैन के बीच चलेगी. यह ट्रेन तीन ज्योर्तिलिगों वाराणसी में काशी विश्वनाथ, उज्जैन में महाकालेश्वर और इंदौर के पास ओंकारेश्वर को जोड़ेगी. इस ट्रेन का वाराणसी से इंदौर के बीच किराया 1951 रुपये रखा गया है.

ये वीडियो भी देखें:

जानें कैसी है 'काशी-महाकाल एक्सप्रेस' 
आईआरसीटीसी के मुताबिक यह सुपरफास्ट एयरकंडीशंड (वातानुकूलित) ट्रेन होगी है. आप इस ट्रेन में टूर पैकेज भी बुक करा सकेंगे. 'काशी-महाकाल एक्सप्रेस' में शाकहारी भोजन मिलेगा. वहीं यात्रियों को इस ट्रेन में भक्ति गीत सुनाई देंगे. इस ट्रेन के हर कोच में दो प्राइवेट गार्ड होंगे. पूरी ट्रेन में सिर्फ एसी कैटगरी की श्रेणियां ही होंगी और स्लीपर बर्थ होंगे. ट्रेन की यात्रा ओवर नाइट की होगी.

'काशी-महाकाल एक्सप्रेस' की टाइमिंग
यह ट्रेन अप और डाउन, दो जोड़ियों में चलेगी. रेलवे बोर्ड के चेयरमैन के मुताबिक मंगलवार और गुरुवार को दोपहर 2:45 बजे ट्रेन नंबर 82401, 'काशी-महाकाल एक्सप्रेस' वाराणसी से चलकर शाम 07:05 बजे लखनऊ आएगी. कानपुर, बीना, भोपाल, उज्जैन होते हुए अगले दिन सुबह 9:40 बजे इंदौर पहुंचेगी. इंदौर से बुधवार और शुक्रवार सुबह 10:55 बजे 'काशी-महाकाल एक्सप्रेस' डाउन ट्रेन नंबर 82402 चलेगी, जो रात 11:40 बजे कानपुर, 1:20 बजे लखनऊ होते हुए सुबह 6 बजे वाराणसी पहुंचेगी.

वहीं, ट्रेन नंबर 82403 काशी-महाकाल एक्सप्रेस प्रत्येक रविवार दोपहर 3:15 बजे वाराणसी से चलेगी, जो प्रयागराज होते हुए अगली सुबह 9:40 बजे इंदौर पहुंचेगी. प्रत्येक सोमवार सुबह 10:55 बजे ट्रेन नंबर 82404 काशी-महाकाल एक्सप्रेस इंदौर से चलकर रात 11:40 बजे कानपुर पहुंचेगी और 2:35 बजे प्रयागराज होते हुए सुबह पांच बचे वाराणसी पहुंचेगी. 

रामायण सर्किट ट्रेन चलाने की योजना
आपको बता दें कि काशी महाकाल एक्सप्रेस के माध्यम से भगवान शिव के तीन ज्योर्तिलिंगों को जोड़ने के बाद अब रेलवे की तैयारी रामायण सर्किट ट्रेन चलाने की है. यह ट्रेन भगवान राम से जुड़े सभी स्थानों को जोड़ेगी. रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने बताया कि रामायण सर्किट ट्रेन को भी इस तरह से डिजाइन किया जा रहा है कि यात्रियों की तीर्थयात्रा का अनुभव शानदार रहे. इस ट्रेन के अंदर भी भजन-कीर्तन के ऑडियो और वीडियो की व्यवस्था भी की जाएगी. जल्द ही रेलवे इसकी रूपरेखा जारी करेगा.