close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बुर्के पर प्रतिबंध पर बोलीं साध्वी प्रज्ञा- देशहित के लिए कुछ परंपराओं में ढील देना जरूरी है

अगर किसी कारण से आतंकवादी इसका लाभ उठाते हैं और देश को हानि  पहुंचती है, लोकतंत्र को हानि पहुंचती है तो हमें हमारी कुछ परंपराओं में ढील देनी होगा

बुर्के पर प्रतिबंध पर बोलीं साध्वी प्रज्ञा- देशहित के लिए कुछ परंपराओं में ढील देना जरूरी है
वहीं शिवसेना के द्वारा प्रतिबंद पर साध्वी प्रज्ञा सिंह ने कहा , 'अगर शिवसेना ऐसा करेगी तो खुद बदनाम होगी.' (फाइल फोटो)

भोपालः श्रीलंका में हुए सीरियल बम ब्लास्ट के बाद बुर्के पर प्रतिबंध के बाद भारत में भी बुर्के पर प्रतिबंध की बहस छिड़ गई है. शिवसेना की बुर्के पर प्रतिबंध की बहस पर भोपाल लोकसभा क्षेत्र से बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने देश में बुर्के पर प्रतिबंध को लेकर कहा कि 'मुझे लगता है देश सर्वोपरी होना चाहिए. अगर किसी कारण से आतंकवादी इसका लाभ उठाते हैं और देश को हानि  पहुंचती है, लोकतंत्र को हानि पहुंचती है तो हमें हमारी कुछ परंपराओं में ढील देनी होगा. प्रज्ञा ने आगे कहा एयरपोर्ट पर जब जांच होती है तब तो कोई कुछ नहीं कहता. विदेशों में निर्वस्त्र कर जांच की जाती तब भी आप कुछ नही बोलते हैं. ऐसी जगह आप यह सब कर लेते है. चुनाव के समय देश के लिए यह निर्णय लेना चाहिए.'

अयोध्‍या: जानें PM मोदी के रैली स्‍थल की रामलला के जन्‍म से जुड़ी कहानी- 5 बातें

शिव सेना खुद बदनाम होगी
वहीं शिवसेना के द्वारा प्रतिबंद पर साध्वी प्रज्ञा सिंह ने कहा , 'अगर शिवसेना ऐसा करेगी तो खुद बदनाम होगी.' भोपाल के बाहर पार्टी का प्रचार करने पर बोली साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा कि यह निर्णय पार्टी को लेना है इस पर पार्टी विचार करेगी. वहीं लगातार सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को लेकर बयान बाजी कर रहे हैं. आज सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह के बयान पर साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर भड़क गईं और कहा कि 'गोविंद सिंह से पूछे कि बिगड़ा कौन था और बना कौन. मेरे पिता जी ने गोविंद सिंह को उंगली पकड़ कर मंच पर बैठना सिखाया, राजनीति सिखाई. मैं गोविंद सिंह को वॉर्निंग दे चुकी हूं 3 बार. ये लास्ट मौका है तुम्हारे पास इसके बाद चुप नही बैठूंगी.'

PM मोदी को 'देशद्रोही' कहना सिद्धू को पड़ सकता है भारी, कलेक्टर ने EC को भेजी रिपोर्ट

उन्होंने आगे कहा कि 'मैनें गोविंद सिंह के बयान सुने हैं. उन्होंने मुझे आतंकवादी कहा है.. मेरी एक मर्यादा है, जिसकी वजह से मैं चुप बैठी हूं. मैं उन्हें चाचा जी कहती थी. मैं उनका सम्मान करती हूं, इसलिए उनसे यही कहूंगी की वें अपनी सीमा में रहें, अपनी मर्यादा में रहें. मुझे लगता है उनके लिए यही अच्छा होगा.' बता दें मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार के मंत्री गोविंद सिंह ने साध्वी प्रज्ञा पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि 'साध्वी प्रज्ञा पहले एक सीधी-सादी लड़की थी, लेकिन RSS और ABVP से जुड़ने के बाद वह कुछ अलग ही बन गई.'