दुष्कर्म का आरोपी महिला डीएसपी को दे रहा था चैलेंज, पुलिस ने किया कुछ ऐसा, निकल गई सारी हेकड़ी

आरोपी रवि गुर्जर ने कहीं से डीएसपी पूनम थापा का नंबर ले लिया और उसके बाद से लगातार डीएसपी को उसे पकड़ने की चुनौती दे रहा था.

दुष्कर्म का आरोपी महिला डीएसपी को दे रहा था चैलेंज, पुलिस ने किया कुछ ऐसा, निकल गई सारी हेकड़ी
आरोपी रवि गुर्जर.

भिंड/प्रदीप शर्माः अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हो जाते हैं कि कई बार वह पुलिस को भी चुनौती देने लगते हैं. ऐसा ही एक मामला भिंड जिले में सामने आया है, जहां दुष्कर्म का एक आरोपी महिला डीएसपी को चैलेंज दे रहा था. लेकिन पुलिस ने उसकी सारी हेकड़ी निकाल दी है और उसे गिरफ्तार कर लिया है.

जानिए क्या है मामला
दरअसल भिंड जिले के बिरखड़ी के रहने वाले रवि गुर्जर पर आरोप है कि उसने नवंबर 2020 में सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र में रहने वाली एक युवती को अपनी हवस का शिकार बनाया था. जिसकी पीड़िता ने देहात थाने में में शिकायत दर्ज कराई थी. जिसके बाद इस मामले की जांच महिला सेल प्रभारी पूनम थापा को दी गई. 

आरोपी रवि गुर्जर ने कहीं से डीएसपी पूनम थापा का नंबर ले लिया और उसके बाद से लगातार डीएसपी को उसे पकड़ने की चुनौती दे रहा था. जब भी पुलिस उसे पकड़ने के लिए दबिश देती तो वह तभी डीएसपी को फोन कर बोलता था कि कितनी भी कोशिश कर लें लेकिन वह उसे नहीं पकड़ सकती. 

शातिर अपराधी ने तो डीएसपी को चैलेंज करते हुए यहां तक कह दिया कि उसने पासपोर्ट और वीजा बनवा लिया है और चार दिन में वह देश छोड़ कर चला जाएगा, अगर हिम्मत है तो उसे पकड़ कर दिखाओ.

ऐसे आया पकड़ में
दरअसल पुलिस को पता चला कि आरोपी के पास एक बोलेरो गाड़ी है. जिसे वह किराए पर चलवाता है. इसके बाद पुलिस ने गाड़ी का पता लगाया और गाड़ी के ड्राइवर को दबोच लिया. इस ड्राइवर से पूछताछ में पुलिस को पता चला कि दुष्कर्म का आरोपी रवि गुर्जर एक और नंबर इस्तेमाल करता है. पुलिस ने ड्राइवर से इस नंबर को लेकर ट्रेस किया तो रवि गुर्जर की लोकेशन पता चल गई, जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को धर दबोचा. 

ऐसे देता रहा पुलिस को चकमा
आरोपी काफी शातिर है. पुलिस पूछताछ में उसने बताया कि जो लोग की-पेड वाला मोबाइल इस्तेमाल करते थे, वह उनसे कुछ देर के लिए फोन मांगकर अपने मोबाइल में उस नंबर की व्हाट्सएप आईडी बना लेता था. फिर इस नंबर से डीएसपी को मैसेज करता था. पुलिस जब इस नंबर की लोकेशन ट्रेस करके मौके पर पहुंचती तो पता चलता कि संबंधित व्यक्ति व्हाट्सएप नहीं चलाता और आरोपी कोई और है. डीएसपी पूनम थापा ने एक बार फिर साबित कर दिया कि कानून के हाथ वाकई में लंबे हैं.