close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मध्य प्रदेश में लगाए जाएंगे 2 लाख सोलर पंप, बिजली लाइन विस्तार के खर्च में आएगी कमी

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा को प्राथमिकता दी जाए और विकेंद्रीकृत सौर परियोजनाओं को स्थापित करने को प्रोत्साहन देने के साथ ही उत्पादित ऊर्जा की खपत प्रदेश में ही हो इसके प्रयास किए जाएं.

मध्य प्रदेश में लगाए जाएंगे 2 लाख सोलर पंप, बिजली लाइन विस्तार के खर्च में आएगी कमी
मध्यप्रदेश ऊर्जा विकास निगम को प्रदेश में दो लाख सोलर पंप लगाने का लक्ष्य (फाइल फोटो)

भोपाल: मध्य प्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा को बढ़ावा देने की राज्य सरकार की ओर से प्रयास जारी है. राज्य में दो लाख सोलर पंप लगाने का लक्ष्य तय किया गया है. नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा तथा ऊर्जा विभाग के अधिकारियों की बैठक में गुरुवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा को प्राथमिकता दी जाए और विकेंद्रीकृत सौर परियोजनाओं को स्थापित करने को प्रोत्साहन देने के साथ ही उत्पादित ऊर्जा की खपत प्रदेश में ही हो इसके प्रयास किए जाएं.

मुख्यमंत्री ने कृषि कार्य के लिए पूरी बिजली सौर ऊर्जा से उपलब्ध करवाने के लिए प्रदेश के ऐसे 20 विकासखंडों का चयन करने को कहा, जहां इसकी संभावना है. उन्होंने कहा कि वहां सौर परियोजना स्थापित की जाएं. साथ ही मध्यप्रदेश ऊर्जा विकास निगम को प्रदेश में दो लाख सोलर पंप लगाने का लक्ष्य दिया. 

MP: अघोषित बिजली कटौती बनी सरकार की मुसीबत, भाजयुमो ने डाक के जरिए CM कमलनाथ को भेजी लालटेन

मुख्यमंत्री ने ऊर्जा विभाग से कहा कि वे प्रदेश में उत्पादित सौर ऊर्जा खरीदें और प्रदेश के अन्य संस्थान भी सौर ऊर्जा की खरीद को प्राथमिकता दें. साथ ही प्रदेश में सौर परियोजनाओं के स्थापित होने से प्रभावित होने वाले लोगों को परियोजना में रोजगार मिले यह सुनिश्चित करने को कहा.

विज्ञापन में कमलनाथ से हुई बड़ी 'चूक', शिवराज सिंह चौहान बोले- तीसरा हाथ किसका है

बैठक में बताया गया कि नवीन और नवकरणीय ऊर्जा विभाग द्वारा आगर-नीमच और शाजापुर में पंद्रह सौ मेगावट की सौर परियोजना स्थापित की जा रही है. परियोजना को स्थापित करने के लिए शासकीय भूमि आंवटित की गई है. विश्व बैंक ने परियोजना के लिए ऋण देने पर सहमति भी दी है.

(इनपुटः आईएएनएस)