छत्तीसगढ़ में संपन्न हुए निकाय चुनाव, 72 फीसदी से ज्यादा वोटिंग, शांतिपूर्ण रहा माहौल

शनिवार को राज्य के 151 नगरीय निकायों के लिए मतदान होगा. जिसमें 10 नगर पालिका निगम, 38 नगर पालिका परिषद और 103 नगर पंचायत शामिल हैं.

छत्तीसगढ़ में संपन्न हुए निकाय चुनाव, 72 फीसदी से ज्यादा वोटिंग, शांतिपूर्ण रहा माहौल
24 दिसंबर को मतों की गिनती की जाएगी.

सत्यप्रकाश/रायपुर-  छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में 21 दिसंबर को होने वाले निकाय चुनाव (Urban body Election) के लिए प्रचार खत्म हो गया, अब मतदान की तैयारियां शुरु हो गई हैं.

शनिवार को राज्य के 151 नगरीय निकायों के लिए मतदान होगा. जिसमें 10 नगर पालिका निगम, 38 नगर पालिका परिषद और 103 नगर पंचायत शामिल हैं.

151 नगरीय निकायों में कुल 2,840 वार्ड हैं. जिसमें से नगर पालिक निगम के 542 वार्ड, नगर पालिका परिषद के 753 वार्ड और नगर पंचायत के 1,545 वार्ड शामिल हैं. 24 दिसंबर को मतों की गिनती की जाएगी. बता दें कि नगरीय निकाय चुनाव में कुल 39,82,601 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे.

जिनमें पुरूष मतदाताओं की संख्या 19,93,355 और महिला मतदाताओं की संख्या 19,88,804 है. जबकि 442 अन्य मतदाता हैं. मतदान के लिए राज्य में 5,406 मतदान केंद्र निर्धारित किए गए हैं.

गौरतलब है कि इस बार निकाय चुनाव में मतदान EVM के बजाय मतपत्रों के जरिए होगा. साथ ही मतपत्र पर चुनाव चिन्ह के साथ प्रत्याशी की तस्वीर रहेगी. मतपत्र पर नोटा का विकल्प भी रहेगा. प्रदेशभर के नगरीय निकाय क्षेत्र में मतदान का वक्त सुबह 8 बजे से 5 बजे तक है.

चुनाव पार्षद पद के लिए होगा. पार्षदों के निर्वाचन के बाद मेयर और अध्यक्ष के चुनाव के लिए राज्य निर्वाचन आयोग तारीख तय करेगा.

बता दें कि इस बार नगरीय निकाय चुनाव बीजेपी-कांग्रेस दोनों के लिए साख का सवाल बना हुआ है. क्योंकि, मेयर और अध्यक्ष का चुनाव अप्रत्यक्ष प्रणाली से होना है. इसलिए पार्टियों के लिए एक-एक पार्षद पद की सीट जीतना जरुरी हो गया है. वहीं, बीजेपी-कांग्रेस के बागियों ने भी निर्दलीय ताल ठोक कर कई सीटों पर पार्टियों का समीकरण बिगाड़ दिया है. उधर, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) पार्टी भी कई सीटों पर कड़ी टक्कर दे रही है.