Mumbai में कामकाजी महिलाओं को बड़ा तोहफा, महाराष्ट्र सरकार बनाएगी 450 कमरों का हॉस्टल

Maharashtra: मुंबई में कामकाजी महिलाओं की बड़ी समस्या हल हो जाएगी. यहां महिलाओं को रहने के लिए पीजी या हॉस्टल के लिए नहीं भटकना पड़ेगा. सरकार 450 कमरों का हॉस्टल बनाने जा रही है. 

Mumbai में कामकाजी महिलाओं को बड़ा तोहफा, महाराष्ट्र सरकार बनाएगी 450 कमरों का हॉस्टल
फाइल फोटो.

नई दिल्ली: महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) कामकाजी महिलाओं को बड़ा तोहफा देने जा रही है. मुंबई (Mumbai) में बाहर से काम करने के लिए आने वाली महिलाओं की बड़ी समस्या खत्म होने जा रही है. दूर से मुंबई में नौकरी के लिए आने वाली महिलाओं को अब रहने के ठिकाने के लिए भटकना नहीं होगा. महाराष्ट्र सरकार कामकाजी महिलाओं के लिए एक बड़ा हॉस्टल बनाने जा रही है. 

सुप्रिया सुले ने की थी मांग

बता दें एनसीपी प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) की बेटी सुप्रिया सुले (Supriya Sule) ने मुंबई में काम करने वाली महिलाओं के लिए एक हॉस्टल बनवाने की सरकार से मांग की थी. सरकार अब इस दिशा में काम करने जा रही है. महिलाओं की परेशानी को देखते हुए सरकार ताड़देव स्थित म्हाडा संक्रमण शिविर की जगह पर 1 हजार महिलाओं के लिए 450 कमरों का हॉस्टल बनाने जा रही है. 

क्या कहना है मंत्री का

महाराष्ट्र के गृहनिर्माण मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने कहा कि दूर-दूर से महिलाएं मुंबई में काम करने के लिए आती हैं लेकिन उनके लिए ऑफिस के पास रहना संभव नहीं हो पाता है. इस जरूरत को समझते हुए म्हाडा के ताड़देव स्थित एम.पी. मिल कंपाउंड परिसर में महिलाओं के लिए सभी सुविधाओं से लैस हॉस्टल बनाया जाएगा. हॉस्टल जिस जगह पर बन रहा है वहां से मुंबई सेंट्रल, महालक्ष्मी, ग्रांट रोड जैसे महत्वपूर्ण स्थान नजदीक हैं, इस कारण मुंबई में नौकरी करने वाली महिलाओं की बड़ी परेशानी दूर हो सकती है.

यह भी पढ़ें: Corona Outbreak: तिहाड़ जेल तक पहुंचा बेकाबू कोरोना, कई कैदी और जेल स्टाफ संक्रमित 

कितनी आएगी लागत

मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने बताया कि 450 कमरों का हॉस्टल डेढ़ से दो साल में तैयार किए जाने का लक्ष्य रखा है. छह महीने में इसका टेंडर निकाल दिया जाएगा. हॉस्टल के निर्माण में करीब 35 करोड़ रुपये खर्च आएगा. हॉस्टल बन जाने के बाद उसकी देखभाल एक स्वतंत्र संस्था करेगी. 

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.