भारत में मिला Omicron का तीसरा केस, इस शहर में पहले मरीज की पुष्टि
X

भारत में मिला Omicron का तीसरा केस, इस शहर में पहले मरीज की पुष्टि

Omicron live updates India: भारत में ओमिक्रॉन के मामले बढ़ते जा रहे हैं. कर्नाटक (Karnataka) में इस खतरनाक वैरिएंट के दो मामलों की पुष्टि होने के बाद अब नया केस गुजरात (Gujarat) के जामनगर (Jamnagar) में सामने आया है.

भारत में मिला Omicron का तीसरा केस, इस शहर में पहले मरीज की पुष्टि

नई दिल्ली: गुजरात (Gujarat) मे कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए और डेल्टा से भी खतरनाक वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) की एंट्री से हड़कंप मच गया है. गुजरात के जामनगर मे ओमिक्रॉन का पहला केस सामने आया है. आपको बता दें कि दक्षिण अफ्रीका (South Africa) से आया एक शख्स इस घातक वेरिएंट से संक्रमित पाया गया है.

पुणे लैब गया था सैंपल

इनकी आरटी-पीसीआर यानी कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट पुणे (Pune) की लैब में भेजे गए थे. गुजरात के स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को जानकारी देते हुए बताया कि जिम्बाब्वे निवासी नागरिक के जामनगर आने पर उसके नमूनों को दूसरी लैब में परीक्षण के लिए भेजा गया है ताकि यह पता लगाया जा सके कि कोविड -19 का पॉजिटिव मरीज नए कोरोना वैरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित है या नहीं.

ये भी पढ़ें- Omicron से निपटने के लिए नई रणनीति, हर दिन चेकअप और 7वें दिन RT-PCR टेस्ट; जानें गाइडलाइन

ओमिक्रॉन की वजह से लोगों के मन में सवाल उठ रहा है कि क्या तीसरी लहर आने वाली है. इसे लेकर भारत सरकार ने कहा है कि ओमिक्रॉन भारत समेत अन्य देशों मे फैल सकता है. कोरोना वायरस के डेल्टा वैरिएंट के मुकाबले ओमिक्रॉन वैरिएंट को पांच गुना अधिक संक्रामक बताया जा रहा है. इसलिए एक बार फिर पहले जैसी सावधानी बरतने की हिदायद सरकार की ओर से जारी की गई है.

लक्षण डेल्टा वैरिएंट से अलग?

ओमिक्रॉन को लेकर जुटाए गए शुरुआती डेटा के मुताबिक, ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित मरीजों को बहुत अधिक थकान, गले में खराश, मांशपेशियों में दर्द जैसी समस्याएं आती हैं. इस वैरिएंट के लक्षण डेल्टा वैरिएंट से अलग हैं. ओमिक्रॉन से संक्रमित व्यक्ति के स्वाद और गंध की क्षमता में कोई बदलाव नहीं देखा गया है.

WHO का बयान

ओमिक्रॉन का पता लगाने वाली दक्षिण अफ्रीका की डॉक्टर ने बताया कि फिलहाल मरीजों में हल्के लक्षण ही देखे जा रहे हैं. इस वैरिएंट से संक्रमित लोग गंभीर रूप से बीमार नहीं पड़े हैं.

WHO ने ओमिक्रॉन को 'वैरिएंट ऑफ कंसर्न' (चिंताजनक) की कैटिगरी में डाला है. ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर अभी कुछ भी सही तरीके से स्पष्ट नहीं है .हालांकि, प्रारंभिक साक्ष्य इस बात की संभावना को बढ़ाते हैं कि इस वैरिएंट में ऐसे म्यूटेशन हैं जो इम्यून सिस्टम रिस्पॉन्स से बच सकते हैं और एक से दूसरे व्यक्ति में इसे फैलाने की क्षमता को बढ़ा सकते हैं.

 

Trending news