PAK हाई कमीशन की Farmers Protest पर नजर, भारत को बदनाम करने की साजिश का खुलासा
X

PAK हाई कमीशन की Farmers Protest पर नजर, भारत को बदनाम करने की साजिश का खुलासा

किसान आंदोलन की आड़ में एक बार फिर पाकिस्तान भारत के खिलाफ साजिशें कर रहा है. दिल्ली स्थिति पाकिस्तान हाई कमीशन आंदोलन से जुड़ी पल-पल की अपडेट पाकिस्तान पहुंचा रहा है, और प्लान K-2 को अंजाम देने में मदद कर रहा है.

PAK हाई कमीशन की Farmers Protest पर नजर, भारत को बदनाम करने की साजिश का खुलासा

नई दिल्ली: नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन (Farmers Protest) कोरोना महामारी में भी जारी है. इसी प्रदर्शन की आड़ में अब पाकिस्तान (Pakistan) भारत के खिलाफ साजिशें करने की कोशिश कर रहा है. Zee News को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक, दिल्ली में स्थित पाकिस्तानी हाई कमीशन (Pakistani High Commission) लगातार किसान प्रदर्शनों पर नजर रखे हुए है, और इससे जुड़ी हर रिपोर्ट्स पाकिस्तान को भेजा जा रहा है. ताकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत को बदनाम किया जा सके.

पाकिस्तान पहुंच रही पल-पल की अपडेट 

खुफिया एजेंसियों के मुताबिक, पाक हाई कमीशन इस्लामाबाद में स्थित पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय को ये रिपोर्ट भेज रहा है, जहां पर इन रिपोर्ट्स के आधार पर पाक विदेश मंत्रालय आईएसआई (ISI) और पाक सेना के अधिकारी मिलकर भारत के खिलाफ रणनीति बनाते हैं. पिछले महीने सुरक्षा एजेंसियों की एक रिपोर्ट से खुलासा हुआ था कि किसान प्रदर्शन की आड़ में पाकिस्तान की ISI ने दंगा फैलाने की साजिश रची थी. इसके लिए ISI ने कनाडा, यूके, जर्मनी और अमेरिका में स्थित पाकिस्तान दूतावास के जरिए खालिस्तानी आतंकियों के साथ कई राउंड की बैठक की थी.

ये भी पढ़ें:- महाराष्‍ट्र: 15 दिनों के लिए बढ़ा Lockdown, CM ठाकरे ने तीसरी लहर पर कही ये बात

वामपंथी न्यूज चैनल भी कर रहे PAK की मदद

ISI भारत में हो रहे किसानों के प्रदर्शन की आड़ में जहां खालिस्तानी गुटों की मदद कर रही है, वहीं दुनिया भर में फैले अपने दूतावासों की मदद से ये बात फैला रही है कि भारतीय सुरक्षा बल किसानों के साथ बहुत अमानवीय तरीके से पेश आ रहे हैं. रिपोर्ट से ये भी पता चला है कि भारत में हो रहे किसानों के प्रोटेस्ट को अंतरराष्ट्रीय रंग देने के लिए भारत के कुछ ऑनलाइन न्यूज पोर्टल को साजिश में शामिल किया गया. साथ ही बैठक में ये फैसला किया गया था कि उन्हीं न्यूज पोर्टल को प्लान में शामिल करना है जो मोदी सरकार के खिलाफ हैं और जो वामपंथी विचारधारा के है. जांच एजेंसियों के मुताबिक, भारत विरोधी कई आर्टिकल को भारतीय न्यूज पोर्टल में एक साजिश के तहत जगह दी गई थी, जिससे मोदी सरकार पर हमले किए जा सके. 

प्लान K-2 को अंजाम देने में लगा पाकिस्तान

पाकिस्तान की इमरान खान (Imran Khan) सरकार उरी (URI) और पुलवामा (Pulwama) हमले के बाद भारत की सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) करने के मोदी सरकार के फैसले से बेहद दवाब में है. पाकिस्तान परेशान है और भारत को अस्थिर करने के लिए प्लान K-2 को अंजाम देने की साजिशों में लगी हुई है. प्लान के-2 कश्मीर और खालिस्तान के नाम पर बनाया गया है, जिसमें जहां कश्मीर में आतंकी हमले करना है. वहीं पंजाब को भारत से अलग करने के लिए खालिस्तानी आतंकियों की मदद से पंजाब में हिंसा कराना है.

ये भी पढ़ें:- Pakistan के नेता की मांग, 18 की उम्र में नहीं कराई बच्चों की शादी तो मां-बाप पर लगे जुर्माना

ISI की देखरेख में बनाया गया नया डिविजन

पाकिस्तान ने विदेश मंत्रालय में स्ट्रेटेजिक कम्युनिकेशन डिविजन (Strategic Communications Division) नाम से नया विंग बनाया है, जिसे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI ऑपरेट कर रही है. इसके जरिए ISI कश्मीर और खालिस्तान पर नई रणनीति बनानी शुरू कर दी है. इसी के जरिए दुनिया को ये दिखाने की कोशिश की जा रही है कि पाकिस्तान कश्मीर पर शांति के जरिए बातचीत का पक्षधर है, जिससे दुनिया भर में अपनी खराब छवि को सुधारा जा सके और FATF की करवाई से बचा जा सके. साथ ही चोरी छुपे आतंकियों और खालिस्तानी गुटों के जरिए भारत पर आतंकी हमले किए जा सके.

पाक पीएम ने हाल ही में दिया था ये बयान

पिछले साल सिंतबर में गठित स्ट्रेटेजिक कम्युनिकेशन डिविजन की कोशिशें रंग लाने लगी है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कश्मीर पर हाल ही में दिए बयान में कहा था कि अगर कश्मीर मसला बातचीत के जरिए सुलझा लिया जाता है तो दोनों देशों का इसका फायदा होगा. साथ ही अगर शांति होती है तो भारत और पाकिस्तान दोनों देशों में गरीबी को दूर करने से लेकर व्यापार बढ़ सकता है.

ये भी पढ़ें:- एंटीगुआ छोड़कर क्‍यों भागा था मेहुल चौकसी? वहां के PM ने 'राज' से उठा दिया पर्दा

भारत की साख खराब करने की है साजिश

सूत्रों के मुताबिक हाल ही में स्ट्रेटेजिक कम्युनिकेशन डिविजन की एक बैठक में ISI ने भारत को बदनाम करने के लिए कश्मीर के साथ-साथ नक्सल प्रभावित इलाकों और नार्थ ईस्ट में तैनात भारतीय सुरक्षा बलों के खिलाफ मानव अधिकार हनन के फर्जी मामलों को अंतराष्ट्रीय स्तर पर उठाने की जरूरत बताई जिसके जरिए भारत की बढ़ती साख को खराब किया जा सके.

LIVE TV

Trending news